फाउंडर्स ने माना नाइक का आग्रह, माइंडट्री को संभालने में करेंगे मदद

मुंबई एवं बेंगलुरु । मझोली आईटी सर्विसेज फर्म माइंडट्री के फाउंडर उसके कारोबार को स्थिरता देने के लिए कंपनी में बने रहेंगे। ईटी को यह जानकारी कंपनी का जबरिया अधिग्रहण करने वाली इंजिनियरिंग फर्म एलऐंडटी के चेयरमैन ए. एम. नाइक ने दी। बुधवार को IT फर्म में नॉन एग्जिक्यूटिव चेयरमैन की पोस्ट संभालने वाले नाइक ने माइंडट्री के फाउंडर कृष्णकुमार नटराजन, एन. एस. पार्थसारथी और रोस्तोव रवानन से मुलाकात की। तीनों ने माइंडट्री का प्रदर्शन वित्त वर्ष 2020 के पहले क्वॉर्टर में सुस्त रहने पर कंपनी की मदद करने का वादा किया है। कंपनी ने अपने क्वॉर्टली रिजल्ट का ऐलान करते हुए बताया कि जून क्वॉटर में रेवेन्यू ग्रोथ सालाना आधार पर 10.3त्न रही है। हालांकि, एंप्लॉयीज को वन टाइम बोनस देने और सैलरी पर खर्च बढऩे से ऑपरेटिंग मार्जिन घटकर 9त्न रह गया है, जो पिछले आठ साल में सबसे कम है। नाइक ने कहा, ‘माइंडट्री के प्रमोटरों के साथ बुधवार की हमारी मीटिंग काफी पॉजिटिव रही। उन्होंने कंपनी की परफॉर्मेंस और स्टॉक प्राइस में सुधार लाने में मदद करने का वादा किया है। बेंगलुरु की आईटी फर्म माइंडट्री के नटराजन ने कहा कि नाइक और एलऐंडटी की अगुवाई वाले बोर्ड से चर्चा हुई है। उन्होंने कहा, फिलहाल, फोकस ट्रांजिशन को स्मूद रखने और कारोबार में रफ्तार बनाए रखने पर है। नटराजन से जब यह पूछा गया कि माइंडट्री के तीनों फाउंडर कब तक कंपनी में बने रहेंगे तो उन्होंने कहा, ‘इसके लिए कोई समय-सीमा तय नहीं है। हमारा मकसद स्मूद ट्रांजिशन सुनिश्चित करना है।’ नाइक ने एलऐंडटी की तरफ से टेकओवर के बाद भी माइंडट्री के वर्क कल्चर को बरकरार रखने पर एंप्लॉयीज और सीनियर मैनेजरों को आश्वस्त करने के लिए बुधवार को देर रात एक टाउनहॉल आयोजन भी किया।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *