4 साल में विकास होने के बजाय विनाश हुआ : तिवाड़ी

भरतपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता और विधायक घनश्याम तिवारी ने गुरुवार को अपनी ही सरकार और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार के 4 साल के कार्यकाल में विकास होने के बजाय विनाश हुआ है और आज प्रदेश में इमरजेंसी जैसे हालात बने हुए हैं।उन्होंने पद्मावती फिल्म के मुद्दे पर हुए विवाद का जिम्मेदार भी मुख्यमंत्री को ही ठहराया है। राज्य सरकार ने पर्यटन के प्रचार प्रसार करने की अनुमति एक बोस नामक कंपनी को दी थी, जिसने अपनी वेबसाइट पर रानी पद्मिनी को अलाउद्दीन खिलजी की प्रेमिका दर्शाया था, इसलिए सबसे पहले मुख्यमंत्री राजे को इसका दंड देना चाहिए। विधायक घनश्याम तिवारी यहां शादी समारोह में शामिल होने आए थे। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में यह बात कही। उन्होंने कहा कि भले ही सरकार 4 साल का जश्न मना रही हो, लेकिन इन 4 सालों में ऐसा कोई कार्य नहीं हुआ जिससे आमजन को राहत मिली हो।उन्होंने कहा कि देश की यह पहली ऐसी सरकार है जिसमें 20 हजार स्कूलों को बंद कर दिया तो वहीं शिक्षा व स्वास्थ्य सेवाओं को भी पीपीपी मोड पर देकर जिम्मेदारियों से अपना पीछा छुड़ा लिया है। भ्रष्टाचार को रोकने में सरकार पूरी तरह असमर्थ रही है और भ्रष्टाचार के आरोप में जेल काट कर आए अधिकारियों को दोबारा पोस्टिंग दी गई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली और बिहार की तर्ज पर राजस्थान में भी तीसरे विकल्प की संभावनाएं प्रबल हैं। तिवारी ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी को मुख्यमंत्री का राजदार भी बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *