मिनिकिट वितरण की होगी जिओ टेगिंग

मोबाइल एप के प्रयोग का दिया प्रशिक्षण

जयपुर, 6 नवम्बर (कासं.)। कृषि विभाग की ओर से आयोजित किए जाने वाले फसल प्रदर्शनों तथा मिनिकिट वितरण को ज्यादा पारदर्शी एवं प्रभावी बनाने के लिए जिओ टेगिंग कराई जाएगी। इसके लिए बुधवार को यहां दुर्गापुरा स्थित राज्य कृषि प्रबंध संस्थान के सभागार में केन्द्र सरकार के प्रशिक्षकों ने प्रदेश भर के कृषि अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया। कार्यशाला में अधिकारियों ने बताया कि कृषि विभाग की ओर से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन, राज्य योजनान्तर्गत एवं तिलहन और तेल पाम राष्ट्रीय मिशन (एनएमओओपी) के तहत खरीफ एवं रबी फसलों के प्रदर्शन तथा मिनिकिट वितरण किए जाते हैं। केन्द्र सरकार के निर्देशानुसार राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन की वेबसाइट पर उपलब्ध ‘कृषि किसान मोबाइल एप के माध्यम से जिओ टेगिंग किया जाना है। इसके तहत फसल बुवाई, मिड सीजन एवं कटाई से पूर्व अवस्था की फोटो अपलोड करनी होगी। इसके बाद ही इसे वैध माना जाएगा। इससे फसल प्रदर्शन तथा मिनिकिट वितरण की प्रभावी मॉनिटरिंग होगी और रियल टाइम लोकेशन तथा वास्तविक लाभार्थी का पता चल सकेगा। साथ ही बेवसाइट पर ऑनलाइन सूचना उपलब्ध रहेगी।
इससे कोई भी व्यक्ति किसी भी स्थान की स्थिति देख सकेगा। कार्यशाला में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के राष्ट्रीय सलाहकार डॉ. डी.पी. सिंह एवं केन्द्र सरकार के अन्य प्रशिक्षकों ने कृषि विभाग के अधिकारियों, कृषि विज्ञान केन्द्रों के वैज्ञानिकों, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् से जुड़ी संस्थाओं के अधिकारी-वैज्ञानिकों को प्रशिक्षण दिया गया। उन्होंने अधिकारियों को मोबाइल एप के प्रयोग, जियो टेगिंग की प्रक्रिया एवं बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में विस्तार से अवगत कराया। यह प्रशिक्षित अधिकारी-कार्मिक अपने अधीनस्थ कार्यक्षेत्र के विस्तार कर्मियों को मोबाइल एप के प्रयोग की जानकारी देंगे जो फील्ड में जियो टेगिंग के कार्य को सम्पादित करेंगे। कार्यशाला में कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक एवं प्रभारी अधिकारी के.सी. मीणा, संयुक्त निदेशक जयपुर खण्ड आर.एल. मीणा सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *