पांच हजार रुपए महीने के सोसाइटी मेंटिनेंस पर नहीं लगेगा जीएसटी

नई दिल्ली। अगर आपके को-ऑपरेटिव हाउसिंग सोसाइटी का मासिक रखरखाव चार्ज पांच हजार रुपए या इससे कम है, तो इस पर जीएसटी नहीं लगेगा। यह निर्देश वित्त मंत्रालय की टैक्स रिसर्च यूनिट की ओर से जारी किए गए एक्सप्लेनेट्री नोट में कहा गया है।हालांकि, यदि आप पांच हजार रुपए से ज्यादा का भुगतान कर रहे हैं। मगर, सोसायटी या एसोसिएशन की सालाना कमाई 20 लाख रुपए से कम हो, तो उसे भी जीएसटी के तहत रजिस्टर नहीं कराना होगा।छोटी सोसाइटीज, जिनका सालाना कलेक्शन (राजस्व) कम है, वे जीएसटी की परिधि के बाहर रहेंगी। मंत्रालय की ओर जा जारी किए गए फ्रीक्वेंटली आस्क क्वेशचन्स (स्न्रक्त) में कहा गया है कि सामान्य उपयोग के लिए तीसरे व्यक्ति से माल या सेवाओं की सोर्सिंग के लिए प्रति सदस्य प्रति माह 5,000 रुपए की राशि पर जीएसटी नहीं लगाया जाएगा। हाउसिंग सोसाइटीज द्वारा सिक्योरिटी मुहैया कराने, लिफ्ट के लिए, कॉमन एरिया के रखरखाव आदि के लिए जमा की गई राशि इन पर ही खर्च हो जाती है। लग्जरी सोसाइटीज में जहां क्लब हाउस, जिम या स्वीमिंग पूल आदि की व्यवस्था है, वहां मासिक रखरखाव शुल्क काफी अधिक होते हैं, जो एक लाख रुपए तक हो सकते हैं। ऐसी सोसाइटीज में वार्षिक कलेक्शन 20 लाख रुपए से अधिक होता है, इसलिए इन सोसाइटीज पर जीएसटी लागू होगा। एफएक्यू में हाउसिंग सोसाइटीज द्वारा एकत्र अन्य शुल्कों पर विशिष्ट सवालों के जवाब भी दिए गए हैं जैसे कि नगर निगम द्वारा वसूल किए गए संपत्ति कर या जल कर।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *