गृहमंत्री ने किया प्रदेश के पहले आर्किड फेस्टीवल का शुभारम्भ

जयपुर, 27 जुलाई (का.सं.)। गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने शुक्रवार को उदयपुर के सज्जनगढ़ बायोलॉजिकल पार्क के पार्किंग स्थल पर तीन दिवसीय ऑर्किड फेस्टीवल का फीता काट कर शुभारम्भ किया। वन विभाग की ओर से आयोजित अपनी तरह का प्रदेश का यह पहला फेस्टीवल है जिसमें ऑर्किड की स्थानीय और अन्य राज्यों की विभिन्न प्रजातियां प्रदर्शित की गई हैं। इस अवसर पर मुख्य वन संरक्षक राहुल भटनागर, इंद्रपाल सिहं मथारू सहित अन्य अधिकारी एवं प्रकृति प्रेमी उपस्थित रहे।कटारिया ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया और विभाग के प्रयासों को सराहा। रंग बिरंगे ऑर्किड के फूलों देखकर गृहमंत्री अभिभूत हुए और प्रत्येक के बारे में जिज्ञासा प्रकट करते हुए जानकारी ली। मुख्य वन संरक्षक ने बताया कि यहां प्रदर्शित अधिकांश ऑर्किड फुलवारी की नाल से लाकर प्रदर्शित किए गये हैं जो वहां प्राकृतिक रुप से पाए जाते हैं। कुछ प्रजातियों को केरल, कर्नाटक आदि राज्यों से लाकर प्रदर्शित किया गया है जो यहां के मौसम के अनुकूल हैं। गृह मंत्री ने विजिटर बुक में अपने संदेश में लिखा कि प्रकृति प्रेमियों को इन पौधों के बारे में जानकारी देने हेतु इस तरह की प्रदर्शियां लगाई जानी चाहिए। साथ ही ऐसे प्रयास करने की आवश्यकता है कि फुलवारी की नाल भी पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बन सके। इस अवसर पर गृहमंत्री एवं अन्य गणमान्यों ने ‘आर्किड का स्वर्ग फुलवारी की नाल’ पर आधारित चित्रनुमा ब्रॉशर का भी विमोचन किया। भटनागर ने बताया कि तीन दिवसीय प्रदर्शनी प्रतिदिन प्रात:काल 10 बजे से सांयकाल 6 बजे तक आमजन के लिए खुली रहेगी। यहां पर प्रदर्शित ऑर्किड को निर्धारित मूल्य चुकाकर खरीदा भी जा सकता है। गृहमंत्री कटारिया ने सज्जगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में पल रहे मगरमच्छ के 16 बच्चों के संरक्षण को लेकर किये जा रहे प्रयास पर प्रसन्नता जताई। उन्होनें इन बच्चों को देखा और इनको बचाने हेतु किया जा रहे प्रयासों के बारे में विस्तार से जानकारी ली। वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि निर्धारित गाइडलाइन के अनुसार इनके भोजन आदि की व्यवस्था की जाती है। कटारिया ने सज्जनगढ़ स्थित मानसून पैलेस का अवलोकन कर इसके जीर्णोद्धार के कार्यों का जायजा लिया। यहां चल रहे कैफेटेरिया का भी निरीक्षण किया और यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या व उनको उपलब्ध सुविधा आदि के बारे में जानकारी ली। कटारिया ने फोन पर यूआईटी अध्यक्ष रवीन्द्र माली से बात कर मानसून पैलेस तक जाने वाली सड़क के ऊपरी हिस्से की मरम्मत हेतु उचित कदम उठाने के निर्देश दिए। सज्जनगढ़ संरक्षित क्षेत्र में एक अन्य पहाड़ी पर नया टूरिस्ट डेस्टीनेशन विकसित किया जाएगा। ‘क्लाउड 9’ नाम के इस स्थान के मुख्य वन संरक्षण राहुल भटनागर ने चिन्हित किया था। फतहसागर और पिछोला के दृश्य सहित शहर का नजारा इस नए स्थान से और भी समीप एवं आकर्षक दिखाई देता है। कटारिया ने कहा कि यहां पर चार कमरों की व्यवस्था करनी चाहिए ताकि पर्यटकों को इस नए स्थान पर सुविधा उपलब्ध हो सके।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *