एचडीएफसी बैंक ने कस्टमाईज़्ड ऐप्स लॉन्च किया

 

मुंबई, 9 जनवरी (एजेन्सी)। एचडीएफसी बैंक ने माईऐप्स लॉन्च किया। यह व्हाईट लेबल ऐप्स का संग्रह है, जो शहरी स्थानीय इकाईयों, जैसे स्मार्ट सिटीज़ एवं मुनिसिपलिटीज़, हाउसिंग सोसायटीज़, क्लब या जिमखाना तथा धार्मिक संस्थानों को अपनी कार्यशैली को पूरी तरह से डिजिटल करने में समर्थ बनाएगा। उद्योग में एक पहल करते हुए यह बैंक अपने बैंकिंग उत्पादों के संपूर्ण संग्रह के अलावा वैल्यू एडेड सेवा के रूप में एक कस्टमाईज़्ड ऐप प्रस्तुत करेगा। इस ऐप में संस्थान की ब्रांडिंग एवं कंटेंट होंगे। इसके माध्यम से सदस्य यूटिलिटी एवं फीस का भुगतान कर सकते हैं, विविध सुविधाओं के लिए ऑनलाईन बुकिंग कर सकते हैं, लेटेस्ट घोषणाओं के लिए अपडेटेड रह सकते हैं तथा संस्थान द्वारा दी जाने वाली अन्य सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं। संस्थान को भुगतान, सदस्यों द्वारा बुक की गई सुविधाओं, निवेदनों एवं दर्ज कराई गई शिकायतों की एक्सेस भी मिलती है। वो नोटिस को ब्रॉडकास्ट करने के लिए ऐप का उपयोग कर सकते हैं तथा विविध ईवेंट्स के लिए सदस्यों के साथ संलग्न हो सकते हैं। मिस स्मिता भगत, एचडीएफसी बैंक ने कहा कि एक लाईफस्टाईल बैंक के रूप में हमारा प्रयास है कि हम ग्राहकों की दैनिक जिंदगी का अभिन्न हिस्सा बनें और उन्हें बेसिक बैंकिंग से बढ़कर सुविधाएं दें। उत्पादों का माईऐप्स संग्रह हमारे इंस्टीट्यूशनल ग्राहकों को सुविधाए लचीलापन और डिजिटल कौशल प्रदान करेगा, जो उन्हें अपनी सेवाओं के विस्तार के लिए जरूरी हैं। इससे डिजिटल इंडिया मिशन में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि एचडीएफसी बैंक पर हम डिजिटाईज़ेशन के अभियानों में अग्रणी हैं और इस डिजिटल पहल को अंतिम छोर तक ले जाते हुए सुविधाओं की कमी वाले इस सेगमेंट तक पहुंचना चाहते हैं। माईऐप्स के लॉन्च पर बोलते हुए मिस सुनाली रोहरा-गवर्नमेंट एवं इंस्टीट्यूशनल बिजऩेस, एचडीएफसी बैंक ने कहा कि हमें उत्पादों का यह संग्रह लॉन्च करने की खुशी है, जिसके साथ एचडीएफसी बैंक ईकोसिस्टम बैंकिंग की ओर अग्रसर हुआ है। उद्योग में यह पहली बार हुआ है और हम ऐसे सेगमेंट्स पर केंद्रित हैं, जिन्हें इससे पहले सुविधाओं की कमी रही है। हम उनके लिए विशेष रूप से तैयार समाधानों का संग्रह लेकर आए हैं, ताकि वो अपनी डिजिटल क्षमताओं का विस्तार कर भविष्य के लिए तैयार हो सकें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *