मैं नहीं चाहूंगा कि किसी से मेरी फिल्म की तुलना हो अजय देवगन

ऐक्टर अजय देवगन की महत्वाकांक्षी फिल्म तानाजी: द अनसंग वॉरियर का ट्रेलर लॉन्च हो गया है। वीर मराठा योद्धा तान्हाजी पर आधारित यह फिल्म अजय के करियर की सौवीं फिल्म है। ट्रेलर लॉन्च पर फिल्म की पूरी कास्ट मौजूद थी।
ऐक्टर अजय देवगन अगले साल रिलीज हो रही अपनी महत्वांकाक्षी फिल्म ‘तान्हाजी: द अनसंग वॉरियर के रूप में फैंस को सौवीं फिल्म का तोहफा देने जा रहे हैं। अजय देवगन, सैफ अली खान, शरद केलकर, काजोल आदि की मुख्य भूमिका से सजी यह फिल्म भव्यता, ऐक्शन और वीएफएक्स के मामले में काफी दमदार नजर आ रही है। ऐसे में अजय से जब पूछा गया कि क्या इस फिल्म की तुलना ‘बाहुबली’ से की जा सकती है? तो उन्होंने कहा, ‘नहीं, मैं नहीं चाहूंगा कि हम किसी फिल्म से इसकी तुलना करें। हमारी फिल्म अलग है। फिल्म अलग कहानी कह रही है। बहुत सी अच्छी-अच्छी फिल्में बन रही हैं। लोग बहुत अच्छा-अच्छा काम कर रहे हैं।’
30 साल पहले देखा था ऐसी फिल्म का सपना
ट्रेलर लॉन्च के मौके पर खास तौर पर आए अजय के करीबी दोस्त और निर्देशक रोहित शेट्टी ने बताया कि अजय ने ऐसी फिल्म बनाने का सपना करीब 30 साल पहले देखा था, जो ऐसा विजुअल क्रिएट करें कि लोगों के लिए लाइफ टाइम एक्सपीरिएंस बन जाए। अजय का यह सपना उनकी 100वीं फिल्म में पूरा हुआ, पर इसके पीछे उनकी 30 साल की जर्नी, कमिटमेंट और ईमानदारी रही है।’ रोहित की इस बात को आगे बढ़ाते हुए अजय ने बताया, ‘हम डिस्कस करते थे कि हमारे पास हॉलिवुडवालों जैसी टेक्नॉलजी क्यों नहीं है? तब यही सपना देखते थे कि किसी दिन हम ऐसी फिल्म बना सकें कि उनके बराबर पर खड़े हो सकें और बोले कि देखिए, हमारा बजट आपके आधे से भी कम हैं, फिर भी हम आपके लेवल तक पहुंच सकते हैं। हमारे पास टेक्निशियन हैं। अगर हम इस बजट में ये क्वॉलिटी ला सकते हैं, तो सोचिए कि हमारे टेक्निशियन कितने ज्यादा बेहतर हैं। मेरा यही सपना था कि एक दिन वह वक्त आएगा, जब ऐसी फिल्म बनाकर हम ऐसी क्वॉलिटी दिखा पाएं।
ऐसा किरदार बड़ी जिम्मेदारी
ताना जी के किरदार को निभाने के लिए कितनी तैयारी करनी पड़ी? अजय ने बताया, ‘जब आप बड़े योद्धा की भूमिका करते हैं, तो वैसे ही जिम्मेदारी बढ़ जाती है कि आप किरदार को सही दिखाएं। तानाजी के बारे में ज्यादा लिखा नहीं गया है, तो हमें कल्पना करनी थी। इसलिए, मैंने अपने डायरेक्टर को फॉलो किया।
काजोल नहीं हो पाईं शामिल
फिल्म में अहम भूमिका होने के बावजूद काजोल इवेंट में नहीं हो पाईं। रोहित ने बताया कि काजोल सिंगापुर में हैं, क्योंकि उनकी बेटी न्यासा के स्कूल में एक खास मीटिंग थी, जिसमें एक पैरंट का मौजूद होना जरूरी था, इसलिए वह वहां गई हैं।
थ्री डी को लेकर नर्वस थे सैफ
फिल्म में विलन उदयभान राठौर की भूमिका निभा रहे सैफ अली खान यहां काफी खुश नजर आए। उन्होंने कहा, ‘मैं बहुत बहुत खुश हूं कि मैं अजय की सौवीं फिल्म का हिस्सा हूं। हमने पहली बार कच्चे धागे में साथ में काम किया था, जो बहुत अच्छी फिल्म थी। हमने तब साथ में काफी मजे किए थे। इस बार जब अजय से मिला, तो लगा कि हम दोनों थोड़ा ज्यादा मैच्योर और सीरियस हो गए हैं, लेकिन अजय के साथवाली फिल्मों (कच्चे धागे, ओमकारा) में मुझे हमेशा बेस्ट किरदार मिला है। इस बार भी यह बहुत स्पेशल पार्ट है। असल में तानाजी की कहानी उदयभान के बिना अधूरी है।’ हालांकि, सैफ ने यह भी बताया कि वह फिल्म के वीएफएक्स को लेकर थोड़े चिंतित थे।
फिर दिखी रोहित-अजय की अटूट दोस्ती
ट्रेलर लॉन्च के मौके पर रोहित शेट्टी थोड़े भावुक दिखे। उन्होंने कहा, ‘मैं यहां डायरेक्टर की हैसियत से नहीं आया हूं। मैं यहां अजय देवगन प्रॉडक्शन हाउस के सबसे पुराने इंप्लाई के हैसियत से आया हूं। मेरी कहानी एक नाम के बिना अधूरी है, वह नाम है अजय देवगन। आप लोग उसे अजय देवगन कहते हैं, मैं उन्हें बॉस कहता हूं, हमने 30 साल साथ में बिताए हैं। ये रिश्ता चंद फ्राइडेज का नहीं है, दो पीढिय़ों का है।’ वहीं, अजय ने कहा, ‘जब हमने काम शुरू किया था, तब रोहित ने असिस्टेंट के तौर पर जॉइन किया था। तब से वह परिवार का हिस्सा है और इतना गर्व मुझे किसी पर नहीं होता, जितना रोहित पर होता है कि जिस लड़के ने मेरे साथ शुरू किया। देखिए, आज वह अपनी मेहनत और लगन से कहां है? हमने एक-दूसरे के लिए बहुत मार खाई है और एक-दूसरे के लिए बहुत झूठ भी बोले हैं।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *