पीरियड्स के दर्द से बचने के लिए कहीं आप पेन किलर्स तो नहीं खाते

अगर आपको पीरियड्स के दौरान दर्द होता है, वह किसी हार्ट अटैक के दर्द जैसा ही है। यह बात शोध में साबित हो चुकी है। हर महिला की सहनशक्ति अलग होती है। कई महिलाएं इन दिनों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए अलग-अलग उपचार अपनाती है। लेकिन कुछ लोग पीरियड्स के दर्द से छुटकारा पाने के लिए पेन किलर्स का सहारा लेते हैं ताकि अपने काम पर ध्यान दे सके। लेकिन अगर आप यह गलती कर रहे हैं तो आज ही इस आदत को छोड़ दीजिए।विशेषज्ञों के मुताबिक दर्द के लिए पेन किलर्स नियमित रूप से लेना जोखिम भरा हो सकता है। इस तरह से आप कई हेल्थ इश्यूज पैदा कर देते हैं जैसे एसिड रिफलक्स, डायजेस्टिव प्रॉब्लम्स या पेट का अल्सर। विशेष रूप से एक के बाद एक हर महीने दो पिल्स से ज्यादा लेना रिस्की होता है। जरूरत से ज्यादा ली गई दवाइयों का साइड इफेक्ट्स होता है और पेन किलर के मामले में भी यही बात है। लंबे समय तक ली गई दवाएं शरीर पर बुरा असर डालती हैं और अनियमित पीरियड्स के साथ ही लीवर को भी नुकसान पहुंचाती हैं। इन दवाओं के ये साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं।
– चक्कर आना
– पेट के निचले भाग में एंठन(एब्डोमिनल क्रेम्प)
– दस्तें लगना
– उलटी या मतली
– पेट दर्द
– पेट में गैस बनना
– ह्रदय की धड़कन अनियमित होना
इसलिए जब तक बहुत जरूरी न हो, पीरियड पेन से छुटकारा पाने के लिए दवा लेने की सलाह नहीं दी जाती।
पीरियड्स का दर्द कम करने के लिए ये हैं सुरक्षित उपाय – पीरियड्स में शरीर में विटामिन और आयरन की खपत अधिक होती है और इसकी पूर्ति सही समय पर करना जरूरी है। कारण यही है कि अगले महीने फिर पीरियड्स में ज्यादा परेशानी हो सकती है। इसके लिए दूध, दही, फलों का ज्यूस और हरी सब्जियों का ज्यादा सेवन करें।
– ऐसे समय में पेट के नीचे वाले हिस्से पर सकाई करने से राहत मिलती है। ऐसा करने पर शरीर की गंदगी आसानी से निकल जाती है और दर्द कम होता है।
– गुनगुने पानी से नहाने से शरीर का टेम्परेचर बढ़ता है। इससे सिर्फ दर्द में ही आराम नहीं मिलता बल्कि दिमाग और शरीर की थकान भी मिट जाती है।
– पेट के निचले हिस्से में मालिश कर भी दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। तेल लगाकर पेट के नीचे अंगुलियों से हल्की-हल्की मालिश करें।
– इस दौरान ज्यादा से ज्यादा पानी पिए। ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट ज्यादा होते हैं, इसलिए आप इसका सेवन कर सकते हैं।

One thought on “पीरियड्स के दर्द से बचने के लिए कहीं आप पेन किलर्स तो नहीं खाते

  • May 2, 2018 at 11:41 am
    Permalink

    Incredible points. Sound arguments. Keep up the good effort.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *