आपकी रसोई में ही मौजूद हैं कई पेनकिलर, दवाइयों से करें परहेज

शरीर में विभिन्न हिस्सों में दर्द होना एक आम बात है। कभी जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज करने से, चोट लगने से या गलत पॉश्चर आदि के कारण शरीर में दर्द होता है। अमूमन लोग दर्द होने पर पेनकिलर लेना उचित समझते हैं क्योंकि इससे सारा दर्द झट से गायब हो जाता है। लेकिन वास्तव में अगर आप नेचुरल तरीके से अपने दर्द को दूर करना चाहते हैं तो इसके लिए अपनी किचन का रूख कीजिए। किचन में आपको ऐसी ढेरों चीजें मिल जाएंगी, जो एक पेनकिलर की तरह काम करेंगी। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में?
हल्दी -हल्दी का प्रयोग अक्सर घरों में चोट लगने पर या दर्द होने पर किया जाता है। इसमें कुछ एंटी?इंफलेमेंटरी गुण पाए जाते हैं, जो दर्द को दूर करने में मददगार होते हैं। हल्दी का सेवन ज्वांइट व मसल्स पेन को दूर करने के साथ?साथ चोट की सूजन आदि को भी कम करता है।
अदरक-हल्दी की तरह ही अदरक में भी एंटी? इंफलेमेंटरी गुण होते हैं। अदरक का प्रयोग कई तरह के दर्द जैसे अर्थराइटिस, पेट में दर्द, सीने में दर्द, मासिक धर्म के दर्द व मांसपेशियों के दर्द को भी दूर करता है। आप चाहें तो अदरक का सेवन खाने के रूप में करें या फिर इसका पेस्ट बनाकर प्रभावित स्थान पर लगाएं।
लाल अंगूर- बहुत से लोगों को पता नहीं होता, लेकिन लाल अंगूर भी एक पेनकिलर की तरह काम करते हैं। दरअसल, इसमें रेसर्वटोल नामक एंटी?ऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो ज्वाइंट व पीठ के दर्द को कम करने में मददगार है। अगर आपको भी कमर दर्द की शिकायत है तो प्रतिदिन कुछ लाल अंगूर खाने की आदत डालें।
नमक -आपको शायद जानकर हैरानी हो लेकिन नमक भी एक दर्द निवारक है। इसके इस्तेमाल के लिए करीबन एक कप नमक को नहाने के पानी में डालें। अब इस पानी में करीबन पन्द्रह से बीस मिनट के लिए बैठें। नमक का पानी बॉडी सेल्स के निर्जलीकरण में मदद करता है, जिसके चलते शरीर का दर्द व सूजन दूर होती है।
सोया-प्रोटीन युक्त सोया भी शरीर के विभिन्न दर्द जैसे गठिया व ऑस्टियोआर्थराइटिस के दर्द को दूर करने का एक प्राकृतिक व प्रभावी उपाय है। दरअसल, सोया में आइसोफलोवन नामक तत्व पाया जाता है, जिसमें एंटी?इंफलेमेटरी गुण होते हैं और सोया के यही गुण दर्द निवारक होते हैं। आप चाहें तो इसे भोजन में खाएं या फिर सोया मिल्क बनाकर इसका सेवन करें।
लाल मिर्च-लाल मिर्च के बिना भोजन एकदम बेस्वाद लगता है लेकिन यही लाल मिर्च दर्द को दूर करने का भी काम करती है। दरअसल, लाल मिर्च में कैप्सैकिन नाम एक तत्व होता है। यही तत्व कई पेन रिलिविंग क्रीम में भी इस्तेमाल किया जाता है। मिर्च के इसी गुण के चलते व्यक्ति को काफी हद तक राहत मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *