डब्ल्यूजीसी मैक्सिको में शुभंकर का शानदार आगाज, पहले ही दौर में बढ़त बनाई

मैक्सिको सिटी (एजेन्सी)। भारतीय गोल्फर शुभंकर शर्मा ने कई बड़े नामों को पछाड़ते हुए यहां एक करोड़ डालर इनामी डब्ल्यूजीसी मैक्सिको चैंपियनशिप में दो शाट की बढ़त बना ली है. डब्ल्यूजीसी में पदार्पण कर रहे शुभंकर ने पहले दौर में 65 का स्कोर बनाने के बाद दूसरे दौर में 66 का स्कोर बनाया. उनका कुल स्कोर 11 अंडर है. शुभंकर ने गत मास्टर्स चैंपियन सर्जियो गार्सिया, 2017 के पीजीए टूर के साल के उभरते हुए खिलाड़ी जेंडर शाउफले और स्पेन के राफा काबरेरा बेलो पर दो शाट की बढ़त बना ली है। शुक्रवार तक शीर्ष पर चल रहे लुई ओस्तुइजेन (71), दुनिया के नंबर एक और गत चैंपियन डस्टिन जानसन (66), दो बार के मास्टर्स चैंपियन बुबा वाटसन (66) और किरादेच अफिनबर्नरात (69) शुभंकर से चार शाट पीछे संयुक्त पांचवें स्थान पर हैं। दिसंबर से ही शुभंकर ने दो खिताब जीतकर 700000 डालर (लगभग चार करोड़ 60 लाख रुपये) की इनामी राशि जीती है. इक्कीस साल के शुभंकर इस प्रतियोगिता में यूरोपीय टूर रेस टू दुबई और एशियाई टूर हैबिटेट फोर ह्यूमेनिटी सूची के शीर्ष गोल्फर के रूप में पहुंचे हैं. पहले दौर में मलेशिया के गेविन ग्रीन और अमेरिका के चेन किम के साथ खेलने वाले शुभंकर ने कहा था, ”मैं यहां आकर काफी रोमांचित हूं. यह मेरी सबसे बड़ी प्रतियोगिता है. मैं इसे लेकर बेताब हूं। उन्होंने कहा, ”मैंने इसकी कल्पना भी नहीं की थी (तीन महीने पहले). मैंने खुद के यूरोपीय टूर में खेलने की कल्पना नहीं की थी, फिर डब्ल्यूजीसी प्रतियोगिता तो छोड़ ही दीजिए. खेल इसी तरह चलता है. जब आप अच्छा खेलते हो तो कुछ भी संभव है।
शुभंकर का मानना है कि आपको छोटे मौकों की जरूरत होती है और जोहानिसबर्ग और मलेशिया में मुझे यह मौके मिले. यह दर्शाता है कि कुछ भी संभव है. आपको सिर्फ कड़ी मेहनत जारी रखनी होगी.ÓÓ शुभंकर ने पिछले साल दिसंबर में दक्षिण अफ्रीका में 23 अंडर के स्कोर से खिताब जीतने के बाद मलेशिया में 21 अंडर के स्कोर के साथ मेबैंक खिताब जीता था. मेबैंक चैंपियनशिप में खिताबी जीत के बाद शुभंकर शर्मा आधिकारिक विश्व गोल्फ रैंकिंग (ओडब्ल्यूजीआर) में 72वें स्थान के साथ शीर्ष भारतीय गोल्फर बने। चंडीगढ़ के रहने वाले शुभंकर ने पहली बार शीर्ष 100 गोल्फरों में जगह बनाई है। उन्होंने भारतीय खिलाडिय़ों में पीजीए टूर पर नियमित रूप से खेलने वाले अनिर्बान लाहिड़ी को पीछे छोड़ा जो 76वें नंबर पर हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *