हरसिमरत कौर ने किया ग्रीनटेक मेगा फूड पार्क का उद्घाटन

 

जयपुर, 29 मार्च (एजेन्सी)। भारत की शीर्ष एफएमसीजी कम्पनियों में से एक तथा एक बहुराष्ट्रीय संगठन एक सीजी कॉर्प ने आज अपने बहु प्रतीक्षित ग्रीनटेक मेगा फूड पार्क की राजस्थान के अजमेर जिले के रूपनगढ़ गांव में लांच करने की घोषणा की। इस फूड पार्क का उद्घाटन केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल, ने किया उनके साथ राज्य मंत्री साधवी निरंजन ज्योति, सीजी कॉर्प के ग्लोबल चेयरमेन डॉ. बिनोद के. चौधरी, युवा उद्यमी एवं सीजी कॉर्प ग्लोबल के कार्यकारी निदेशक वरुण चौधरी, आईसी अग्रवाल (चेयरमेन मेगा ग्रीनेटेक फूड पार्क), राजस्थान के केबिनेट मंत्री तथा अन्य अतिथिगण एवं निवेशक भी उपस्थित रहे। सी जी कॉर्प ग्लोबल के चेयरमैन बिनोद चौधरी ने अपने सम्बोधन में कहा कि भले हमारे पूर्वज राजस्थान से व्यापार करने नेपाल चले गए लेकिन हमारा दिल राजस्थान के लिए बराबर धड़कता है हम पूरे भारत में कृषि क्रांति और मोदी जी के किसानों की आय बढ़ाने की दूरगामी योजना को प्रतिबद्ध है और यह फ़ूड पार्क उसका पहला नमूना है और देश के अन्य क्षेत्रों में भी हम अन्य अवसरों को तलाश रहे हैं !यह अत्याधुनिक मेगा फूड मार्ट 85 एकड़ भूभाग में फैला है और राजस्थान के अजमेर जिले के किशनगढ़ ब्लॉक के रूपनगढ़ गांव के मध्य में स्थापित किया गया है। यह अपनी तरह की पहली सुविधा है जिसे राजस्थान में लगाया गया है, इसे केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय भारत सरकार ने स्वीकृति प्रदान की है। इस परियोजना का विकास और प्रोत्साहन नेपाल स्थित अरबों डॉलर के बहुराष्ट्रीय संगठन सीजी कॉर्प करेगा जो कि परोपकारी बिनोद चौधरी के नेतृत्व में चल रहे चौधरी ग्रुप के अंतर्गत कार्य करेगा। इस फूड पार्क का लक्ष्य प्रोसेसिंग संयन्त्रों, अत्याधुनिक संरचना, एक संक्षम औद्योगिक वातावरण, नवीनतम टेक्नोलॉजी तथा खाद्य प्रसस्करण शोध के साथ और इस फूड प्रोसेसिंग उद्योग से जुड़े उद्यमियों को एकीकृत फॉर्म टू-फ्रोक प्रसंस्करण सुविधाएँ उपलब्ध करवाना है। यह मेगा पार्क एक संस्थागत मेकेनिज्म उपलब्ध कराएगा ताकि खेत से लेकर खुदरा क्षेत्र तक एक एकीकृत आपूर्ति चेन की स्थापना किसानों के समीप संग्र्रह केन्द्रों की स्थापना करके की जा सके। वर्तमान में राजस्थान के विभिन्न क्षेत्रों में चार प्राथमिक प्रोसेसिंग सेन्टर्स (पीपीसी) कार्यरत है, मेगा फूड पार्क किसानों को उत्पाद एवं खेती सुनिश्चित करेगा ताकि उन्हें अपनी उपज का उचित मूल्य प्राप्त हो सके, इसके साथ ही पार्क में स्थापित होने वाले उद्योगों के विशेषज्ञों के माध्यम से उनका बाजार से जुड़ाव भी करेगा। इस महत्वाकां परियोजना के माध्यम से चौधरी ने मेक इन इण्डिया के दृष्टिकोण का खाका तैयार किया है, जो कि राज्य के कृषि क्षेत्र में एक क्रांतिकारी बदलाव लाने में सक्षम होगा साथ ही किसानों में उद्यमशीलता का पोषण करने की इच्छाओं को भी पूरी करेगा, इसके अतिरिक्ति इससे 10,000 से भी ‘यादा लोगों को रोजगार मिलने के अवसर उपलब्ध हो सकेंगे। इस अवसर पर सीजी ग्रुप ग्लोबल के युवा उद्यमी एवं फूड पार्क के प्रबन्ध निदेशक वरुण चौधरी ने कहा ” इसका वास्तविक लाभ किसानों और खेतिहर किसानों को होगा, जो अभी तक बाजार में अपने उत्पाद के विपणन के लिए एक समर्थक प्रणाली की तलाश में थे और सहवर्ती लाभ प्राप्त करते थे। हम इस फूड पार्क की सफलता की कामना करते है और आशा करते हैं कि किसानों को बाजार से जोडऩे में यह उपयोगी होगा साथ उनके लाभ में भी अभिवृद्धि हो सकेगी और वे अपनी उपज का अधिकाधिक रिटर्न प्राप्त कर सकेंगे।उन्होने अपनी बात जारी रखते हुए कहा ” हम पूरे भारत के कृषि क्षेत्र में नई क्रांति लाने तथा समग्र परिवर्तन लाने के लिए संकल्प बद्ध हैं, और अवसरों का मूल्यांकन कर रहे हैं, और हाल ही में हमने उत्तर प्रदेश सरकार के साथ एक करार (मेमोरेण्डम ऑफ इंटरेस्ट) पर सहमति की है जिसके तहत यूपी इन्वेस्टर्स समिट के दौरान 200 करोड़ का निवेश किया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *