समन्वित-समग्र औद्योगिकीकरण, निवेश विस्तार, निर्यात-रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए

पहले चरण में 11 जुलाई से बनेगी भावी रणनीति-कुणाल

जयपुर, 9 जुलाई (का.सं.)। उद्योग आयुक्त कृृष्ण कुणाल ने बताया है कि राज्य में समन्वित समग्र औद्योगिक विकास और भावी निवेश संभावनाओं की तलाश के लिए पहले चरण में 11 जुलाई से राज्य के 12 जिलों में बारी-बारी से सीधा संवाद कायम कर भावी रणनीति तैयार की जाएगी।उन्होंने बताया कि इसकी जिम्मेदारी बीआईपी, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्रों और बीआईपी के नोलेज पार्टनर केपीएमजी को सौंपी गई है। आयुक्त कुणाल ने बताया कि सभी जिलों उद्योग केन्द्रों के महाप्रबंधकों को वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से जिले मेें उपलब्ध आधारभूत सुविधाओं, औद्योगिक भूमि की उपलब्धता, श्रम शक्ति, निवेशकों के रुझान और पहुंच आदि की जानकारी तैयार करने को निर्देशित कर दिया गया है। पहला सीधा संवाद 11 जुलाई को अलवर में रखा गया है जिसमें जयपुर से केपीएमजी और बीआईपी की टीम के साथ ही स्वयं आयुक्त कृृष्ण कुणाल हिस्सा लेंगे। आयुक्त कुणाल ने बताया कि 11 जुलाई को अलवर में आयोजित सीधे संवाद में पहले जिला कलक्टर अलवर, विभागीय अधिकारियों के साथ ही रीको और औद्योगिक निवेश से जुड़े जिलाअधिकारियों के साथ बैठक की जाएगी। उन्होंने बताया कि इसी दिन इसके बाद जिलों के औद्योगिक क्षेत्रों के प्रतिनिधियों और उद्योग संघों से चर्चा की जाएगी। उन्होंने बताया कि संवाद के दौरान रिप्स, एक्सपोर्ट पोलिसी, सिंगल विण्डों सिस्टम, एमएसएमई उद्योगों के सशक्तिकरण आदि के संबंध में फीड बेक व सुझाव भी लिए जाएंगे। कुणाल ने बताया कि पहले चरण में अलवर, अजमेर, भीलवाड़ा, चित्तोडग़ढ़, उदयपुर, कोटा, बीकानेर, गंगानगर, जोधपुर, जैसलमेर, सिरोही और जयपुर में संवाद कायम किया जाएगा। संवाद में संबंधित जिले के जिला कलक्टर, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र, विभागीय अधिकारियों के साथ ही रीको, जिले के संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ चर्चा के साथ ही औद्योगिक क्षेत्रों और औद्योगिक संघों के प्रतिनिधियों के साथ अलग-अलग बैठक होगी ताकि धरातलीय ठोस जानकारी जुटाई जा सके। उन्होंने बताया कि अध्ययन के बाद केपीएमजी से प्राप्त रिपोर्ट के आधार पर प्रदेश में निवेश के संभावित क्षेत्र, राज्य सरकार की सिंगल विण्डों, रिप्स, निर्यात पॉलिसी पर सुझाव, प्रदेश में रोजगार के अवसर बढ़ाने और योजनावद्ध औद्योगिक निवेश को बढ़ावा दिया जा सकेगा। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में अतिरिक्त निदेशक डीसी गुप्ता, पीके जैन, संयुक्त निदेशकों में एसएस शाह, संजीव सक्सैना, सीएल वर्मा, अविन्द्र लढ््ढा, उपनिदेशक संजय मामगेन, बीआईपी के महाप्रबंधक नागेश, सिंगल विण्डो प्रभारी मलार आदि ने आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में नोलेज पार्टनर केपीएमजी के एसोसिएट निदेशक धवल पिपलानी ने कंप्यूटर स्लाइड प्रजेंटेशन के माध्यम से प्रस्तुतिकरण दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *