परिवहन मंत्री खान को मिला सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में इंटरनेशनल ‘आईआरएफ रोड सेफ्टी अवार्ड 2017 

जयपुर, 14 नवम्बर (कासं.)। राजस्थान में अगले दो वर्ष में 40 हजार गांवों में सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता बढाने के लिए एक बडा कार्यक्रम हाथ में लिया जाएगा। तकनीक के अनुप्रयोग, सडक इंजीनियरिंग में सुधार, प्रवर्तन, ऑटोमेटेड ड्राइविंग टे्रक्स के निर्माण, बेहतर लाइसेंसिंग, जनजागरूकता एवं रोड सेक्टर की अन्य गतिविधियों को बढावा देकर भारत में ब्राजिलिया डिक्लेरेशन के अनुरूप 2020 तक सडक दुर्घटनाओं में 50 प्रतिशत की कमी का लक्ष्य पाने की दिशा में पुरजोर तरीके से प्रयास किया जाएगा। परिवहन एवं सार्वजनिक निर्माण मंत्री यूनुस खान ने मंगलवार को ग्रेटर नोएडा, दिल्ली एनसीआर स्थित इण्डिया एक्सपोजिशन मार्ट लिमिटेड में तीन दिवसीय आईआरएफ वल्र्ड रोड मीटिंग-2017 के उद्घाटन सत्र में विभिन्न देशों के परिवहन मंत्रियों, क्षेत्र से जुड़े विशिष्ट अतिथियों को सम्बोधित करते हुए यह बात कही। खान को इस अवसर पर सडक सुरक्षा के क्षेत्र में उनके विशेष प्रयासों के लिए ‘इंटरनेशनल रोड फेडरेशन रोड सेफ्टी अवार्ड 2017 से नवाजा गया। खान को यह पुरस्कार केन्द्रीय सडक परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी द्वारा प्रदान किया गया। इस अवसर पर खान ने बताया कि राजस्थान में सडक सुरक्षा के क्षेत्र में कई अभिनव प्रयोग किए गए हैं। राज्य में डीग से बहरोड तक 110 किलोमीटर के मॉडल सेफ कॉरिडोर का भी निर्माण किया जा रहा है। खान ने कहा कि सडक परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा सडक सुरक्षा के क्षेत्र में बेस्ट प्रेक्टिसेज के अध्ययन एवं अनुशंसा करने के लिए एक गु्रप ऑफ मिनिस्टर का गठन उनकी अध्यक्षता में किया गया। इसमें सभी राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों के परिवहन मंत्री सदस्य हैं। पूर्व में गठित गु्रप की अधिकांश अनुशंसाओं को मंत्रालय द्वारा स्वीकार कर केन्द्रीय मोटर व्हीकल एक्ट-1988 में सुधार किए गए हैं।खान ने कहा कि सभी राज्य और केन्द्र सरकार मिलकर ब्राजीलिया डिक्लेरेशन के लक्ष्यों को पाने के लिए और अमूल्य मानव जीवन की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। समारोह में बोस्निया, हर्जेगोविना, बुरूंडी, केनेडा, फिनलैण्ड, लग्जम्बर्ग, रूस एवं विश्वभर से आए परिवहन क्षेत्र के विशिष्ट अतिथि मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *