वर्कआउट से पहले शेक पीती हैं करीना कपूर खान

बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री की सबसे आकर्षक और फिट अभिनेत्रियों में करीना कपूर का नाम प्रमुखता से शामिल है। बेटे तैमूर को जन्म देने के दो महीने बाद ही 15 से 20 किलो वजन कम कर करीना ने इंडस्ट्री को हैरान कर दिया था। करीना की खूबसूरती और फिटनेस मंत्र को यहां साझा कर रही हैं नीलम कोठारी
तैमूर के पैदा होने के बाद जिस तरीके से आपने अपना वजन कम किया, वह हैरान कर देने वाला था। इसके लिए आपने क्या-क्या किया?
गर्भावस्था के दौरान घी, चावल और परांठे खाने के कारण मेरा वजन 18 से 20 किलो बढ़ गया था। इसलिए प्रेग्नेंसी के बाद मैंने वर्कआउट करना शुरू किया, लेकिन वजन ज्यादा होने के कारण मैं ट्रेडमिल पर ज्यादा देर चल नहीं पाती थी। इसलिए मैं आधा घंटा रोज गार्डन में वॉक करती थी और फिर जिम जाकर हफ्ते में 3 से 4 दिन पिलाटे एक्सरसाइज करती थी। इसका 45 मिनट का सेशन होता था। साथ ही फुल बॉडी वर्कआउट करती थी। साथ ही मैंने अपने खाने-पीने का पूरा चार्ट बनाया था, जिसकी मदद से मैं पुरानी फिगर में वापस लौट पाई।
आप कहती हैं कि आपकी फिटनेस का राज आपकी देसी आदते हैं। उन आदतों के बारे में अपने फैन्स को बताएं?
खाने-पीने के मामले में मैं एकदम पक्की भारतीय हूं। मुझे काफी घी वाली रोटी और बिना दाल-चावल खाए मजा नहीं आता और न ही पेट भरता है। बचपन में मेरी मां मुझे चावल के साथ घी डालकर खिलाती थीं। उनके हिसाब से घी त्वचा की खूबसूरती को बढ़ाता है। इसलिए उनकी वह बात मेरे मन में अभी तक बैठी है। मेरे घर में जब भी कोई पार्टी होती है, तो सभी गेस्ट मैसेज करके बोलते हैं कि खाने में कुछ भी तेल वाला न हो। यानी पूरा खाना ग्रिल्ड किया हुआ होना चाहिए। मैं उन लोगों के लिए ग्रिल्ड फिश या फिर ग्रिल्ड चिकेन बनवाती हूं। लेकिन जब हम खाने की मेज पर बैठते हैं, तो वे मुझे और सैफ को देखकर हैरान रह जाते हैं। वो बेचारे डाइटिंग के चक्कर में एक ग्रिल्ड फिश से काम चलाते हैं, वहीं हम दोनों प्लेट भरकर बिरयानी खा रहे होते हैं। कई लोगों को भरोसा ही नहीं होता कि मैं एक प्लेट चावल खा जाती हूं। दरअसल, यही मेरी फिटनेस का सबसे बड़ा राज है कि मैं खुद को भूखा नहीं मारती, बल्कि भर पेट खाती हूं और खुश रहती हूं। इससे मेरा शरीर बेहतर काम करता है। शरीर बेहतर काम करता है, तो फिटनेस भी ठीक ही रहती है।
अकसर जिम जाते हुए आपकी तस्वीरें वायरल होती हैं, जिनमें आपके हाथ में हमेशा एक बोतल होती है। उसमें क्या होता है?
उस बोतल में शेक होता है, जिसे मैं वर्कआउट से पहले पीती हूं। यह शेक बीटा कैरोटीन-एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होता है और ब्लड टिशू व बॉडी सेल्स में ताजी ऑक्सीजन पहुंचाने में मदद करता है। उससे ट्रेडमिल पर लंबे समय तक व्यायाम करने की ऊर्जा प्राप्त होती है। वर्कआउट के दौरान में लेमनग्रास वाला पानी पीती हूं। उसे पीने से मांसपेशियों को आराम मिलता है। कभी-कभार मेरे हाथ में पानी की बोतल होती है, क्योंकि पानी एक ऐसी चीज है, जिसकी जरूरत मुझे हमेशा होती है। मैं एक दिन में तीन से चार लीटर पानी पीती हूं। उससे न सिर्फ पूरा शरीर, बल्कि त्वचा भी ग्लो करती है और दिन भर के काम के लिए ऊर्जा मिलती है। भरपूर पानी पीने से पेट साफ रहने के साथ दिमाग भी सुचारू रूप से काम करता है। इसलिए पानी पीने में मैं कोई कोताही नहीं बरतती।
क्या त्वचा की खूबसूरती के लिए भी आप कुछ अलग करती हैं?
मैं इसके लिए योग करती हूं। मैं एक दिन में कई बार कपालभाति, बाइकिंग और स्विमिंग करती हूं। योग मेरा सबसे पसंदीदा फिटनेस प्रोगाम है। मैं मानती हूं कि योग शरीर के साथ हमारे चेहरे पर भी तेज ला सकता है। मैं 50 बार सूर्य नमस्कार करती हूं। चेहरे की खूबसूरती और ग्लो बनाए रखने के लिए मैं एक दिन में कई बार नारियल पानी पीती हूं और खाने में घी का इस्तेमाल करती हूं। कई घरेलू नुस्खे भी अपनाती हूं। इसके अलावा मेरा मानना है कि सकारात्मक सोच, संतुलित आहार और सही व्यायाम से अपका तन और मन दोनों खिल उठाते हैं।
डाइटिंग से बोर न हों, इसलिए कभी-कभार स्टार लोग चीट डे मनाते हैं। क्या आप भी ऐसा करती हैं?
चीट डे उन लोगों के लिए होता है, जो एक प्लेट खाने की जगह सिर्फ आधा प्लेट खाना खाते हैं और फिर दिन भर खाने के बारे में सोचते रहते हैं। मैं ऐसा नहीं करती। चाहे पिज्जा हो या फिर आइसक्रीम, जिसे भी खाने का मन करे, मैं उसे खा लेती हूं। मुझे पता होता है कि किस खाने का मुझ पर कैसा प्रभाव पड़ेगा। इसलिए मैं अगले दिन एक घंटा ज्यादा वर्कआउट कर उसे बैलेंस कर देती हूं। इससे मैं अपने अभियान में सफल रहती हूं। सेहत को कोई नुकसान भी नहीं होता और मन भी खुश व संतुष्ट रहता है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *