शादी से डरना कैसा?

इस साल की डॉक्टर मीरा राव ने शादी के लिए इसलिए ‘हां की, क्योंकि करीना कपूर की सैफ अली खान से शादी ठीकठाक चल निकली। मीरा का मानना है कि अगर करीना एक अभिनेत्री हो कर अपनी शादी ठीक से निभा सकती हैं, तो मैं भी निभा लूंगी। मीरा का जवाब आपको हास्यास्पद लग सकता है। आजकल की युवतियां शादी को लेकर क्या नजरिया रखती हैं, यह इससे पता चलता है। मनोविश्लेषक डॉ. गीतांजलि कहती हैं,’आज का युवा कमिटमेंट से घबराता है। इसलिए शादी के बाद समझौते करने में उन्हें तकलीफ होती है। यही नहीं, लड़कियों के दिमाग में यह बात भी आने लगी है कि शादी के बाद उनकी जिंदगी में टोकाटोकी बढ़ जाती है। घर की जिम्मेदारियों की वजह से वे करियर में भी पिछडऩे लगती हैं। यह मुख्य वजह है लड़कियों के मन में शादी को ले कर डरने का।
डॉ. मीरा को शादी के बाद संयुक्त परिवार में रहने में कोई दिक्कत नहीं आ रही। उन्हें लगता है कि घर में सबके होने से उसका तनाव कम हो जाता है और वह अपने काम पर ज्यादा ध्यान दे पाती है। हालांकि वह भी मानती है कि उसे शादी के बाद कुछ समझौते करने पड़े हैं। जैसे वह पहले सप्ताहांत अपनी सहेलियों के साथ घूमने जाती थी, अब वह ऐसा नहीं कर पाती। शादी से पहले सुबह देर से उठने की आदत थी और उसका काम सिर्फ अस्पताल आना-जाना था। अब उसे घर में कुछ काम करने पड़ रहे हैं, कुछ में राय देनी पड़ रही है। पिछले कुछ सालों में जापान में कामकाजी युवतियां शादी को लेकर इसलिए उदासीन रहने लगी हैं, क्योंकि वह घर की और मां बनने की जिम्मेदारी नहीं उठाना चाहतीं। जापान की लेखिका मत्सुदेरा तेरू अपने ब्लॉग में लिखती हैं,’मैंने पैंतीस साल पहले शादी की। मैं उस वक्त भी आज की लड़कियों की तरह सोच रखती थी। पर शादी के बाद मैंने पाया कि घर के काम मुझे लुभाने लगे हैं। मैंने अपनी नानी से खाना बनाना सीखा और मां से सिलाई। मैं कहीं से नहीं मानती कि मैं आधुनिक नहीं हूं। मैं तो बस यह कहना चाहती हूं कि मैं पूरी हूं।Ó हमारे यहां अभी भी विवाह को लेकर युवतियां अलग सोच रखती हैं। परी कथाओं की तरह उन्हें भी ऐसे राजकुमार का इंतजार रहता है, जो उन्हें डोली में बिठा कर सपनों की दुनिया में ले जाएगा, जहां बस प्यार ही प्यार होगा। इस प्यार का मतलब युवतियां अलग-अलग निकालती हैं। खूब सारा पैसा, बड़ा घर, गहने, गाड़ी, दूसरी सुविधाएं…जब तक वो इस सपने से निकल कर यथार्थ की दुनिया नहीं देखतीं, वोअपने आपको शादी के लिए तैयार कर ही नहीं सकती। वह अपने ही जैसे एक दूसरे परिवार में जा रही है, कुछ नए और अलग संबंधों में बंधने। उसका स्व खोने नहीं जा रहा, बल्कि एक नया रूप लेने जा रहा है। सास-बहू धारावाहिकों की तरह हर घर में हमेशा षड्यंत्र नहीं होते, बहू को चौबीसों घंटे डिजाइनर साड़ी और भारी गहनों में नहीं रहना पड़ता। जैसे अपने घर में वह सबसे निभा कर चलती थी, वही अपेक्षा ससुराल में उससे की जाएगी। इसके अलावा उसे जीवनसाथी के रूप में ऐसा दोस्त मिलेगा, जो उसके हर तरह से करीब होगा। शादी के पहले युवतियों को यह बात जितनी जल्दी समझ आएगी, वह एक खुशहाल रिश्ते की तरफ मजबूती से कदम रख पाएंगी।
शादी से पहले ध्यान रखें ये पांच बातें
1. किसी भी रिश्ते को अपनाने में कुछ वक्त लगता है। किसी के भी प्रति शुरू से नकारात्मक भावना ना रखें।
2. आत्मनिर्भरता युवतियों के लिए बेहद अहम है। शादी के बाद नौकरी ना करने का निर्णय आपका होना चाहिए। अपने आपको व्यस्त रखने के लिए कुछ ना कुछ करती रहें।
3. हो सकता है, शादी से पहले आपको घर के काम, खाना बनाना वगैरह ना आता हो। इससे परेशान ना हों। अगर आपको शौक है, तो बड़े आराम से आप सीख सकती हैं। आप यह बात पहले ही बता दें।
4. दूसरों की शादियों को अपने लिए उदाहरण ना बनाएं। आप ऐसा जीवनसाथी चुनें, जो आप जैसी हैं, वैसा ही पसंद करे।
5. अपने मन से यह बात निकाल दें कि शादी की जिम्मेदारी आप उठा पाएंगी या नहीं। हर कदम पर आपके पति आपके साथ होंगे। साथ मिल कर कोई भी नया काम आप आसानी से कर पाएंगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *