अगवा कर युवती को बंधक बनाया, देहशोषण किया

श्रीगंगानगर, 20 जनवरी (नि.स.)। श्रीगंगानगर जिले के रावला थाना क्षेत्र की एक युवती को बहाने से अगवा कर पंजाब ले जाकर बंधक बना लेने और उसका देहशोषण किये जाने का एक मामला उजागर हुआ है। पीडि़त युवती द्वारा शनिवार को इस सम्बंध में रावला थाना में मुकदमा दर्ज करवाया गया, जिसमें कईं जने नामजद किये गये हैं। पुलिस के मुताबिक चक 6 पीएसडी-ए निवासी 19 वर्षीय पीडि़ता ने दर्ज करवाये मुकदमे में बताया है कि विगत 16 नवम्बर को अलसुबह वह घर से लकडिय़ां लेने के लिए बाहर आई थी। वहां श्रवण पुत्र मन्नूराम कार लिये खड़ा था। श्रवण ने उसे जान से मार देने की धमकी देकर भयभीत कर दिया। उसे अपने साथ कार में बिठा लिया। कार में दर्शना पत्नी तेलूराम चमार निवासी मलोट भी थी। यह दोनों उसे कोई नशीला पदार्थ सुंघाकर अपने साथ ले गये। उसे होश आया तो वह मलोट में दर्शना के घर पर थी। श्रवण और दर्शना ने उसे इसी घर में बंधक बनाये रखा। इस दौरान श्रवण ने उसके साथ कईं बार जबरन दुष्कर्म किया। इसके बाद श्रवण उसे कमालवाला अपने पैतृक गांव ले गया। वहां अपने ही घर में उसे कईं दिन तक रखा। यहां भी श्रवण ने उसका देहशोषण किया। पीडि़ता के अनुसार कुछ दिन उसे अबोहर के सुभाषनगर में भी रखा, जहां उसे बंधक बनाये रखने व उसका देहशोषण करने में श्रवण का बीरबल पुत्र धन्नाराम ने सहयोग किया। पीडि़ता के अनुसार विगत 7 जनवरी को श्रवण उसे मोटरसाइकिल पर फाजिल्का लेकर जा रहा था। रास्ते में उसे भाग निकलने का मौका मिल गया। वह बस द्वारा हनुमानगढ़ जिले में चक 20 एसएसडल्यू अपने ननिहाल में पहुंची। अपने ननिहाल वालों को उसने इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि इस मुकदमे में पीडि़ता ने मुख्य अभियुक्त श्रवण के साथ-साथ पूजा पत्नी सुभाष चमार, दर्शना, बीरबल के अलावा श्रवण के पिता मन्नूराम, भाई इंद्रसैन और इंद्रसैन की पत्नी मंजूबाला आदि को नामजद किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *