नगरीय विकास गतिविधियों को सुनहरा स्वरूप प्रदान करें : माहेश्वरी

उच्च शिक्षा मंत्री ने राजसमन्द शहर में विकास कार्यों का अवलोकन किया

 

राजसमन्द, 10 जून (का.सं)। उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने रविवार को राजसमन्द नगर परिषद् क्षेत्र का दौरा कर शहर में चल रहे विभिन्न महत्वपूर्ण विकास कार्यों का निरीक्षण किया। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को जरूरी निर्देश देते हुए हिदायत दी कि विकास कार्यों के प्रति पूरी तत्परता दिखाएं और इसमें किसी तरह की ढिलाई न हों। माहेश्वरी ने मुख्यमंत्री जन आवास योजना के तहत पुलिस लाइन के पीछे चल रहे आवास निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां अलग-अलग आय वर्ग के लिए बन रहे मकान देखे तथा निर्माण सम्बन्धी बिंदुओं पर ठेकेदार से चर्चा की। कार्य में तेजी लाने एवं गुणवत्ता का पूरा ख्याल रखने के निर्देश दिए। साथ ही सम्बन्धित तकनीकी अधिकारियों को निर्माण कार्य पर नियमित निगरानी रखने के निर्देश भी दिए। इसके बाद उच्च शिक्षामंत्री ने जन प्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के साथ राजनगर पहाड़ी पर स्थित अन्नपूर्णा माता मंदिर क्षेत्र का अवलोकन किया। यहां उन्होंने नगर परिषद्, वन विभाग एवं लोक निर्माण विभाग के माध्यम से करोड़ों रुपए लागत से चल रहे विकास कार्यों के सन्दर्भ में चर्चा की और कामकाज देखा।
उन्होंने सेवाली राजमार्ग से मंदिर तक नवनिर्मित मार्ग का अवलोकन किया जहां शीघ्र डामरीकरण किया जाने वाला है। उन्होंने दुर्गम चढ़ाई वाले इस मार्ग पर विकट मोड़ वाले स्थानों पर रास्ता यथासम्भव और चौड़ा करने के लिए लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियन्ता श्री अशोक शर्मा को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इससे मंदिर तक आवाजाही और सुगम बन सकेगी। माहेश्वरी ने मंदिर के नीचे रूठी रानी महल के पास वाहन पार्किंग के लिए स्थान चिह्नित कराते हुए उप वन संरक्षक श्री कुमार स्वामी गुप्ता एवं लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियन्ता को यहां सुविधाजनक पार्किंग स्थल निर्माण के निर्देश दिए।
‘श्रद्धालुओं के लिए हो कारगर व्यवस्था
उच्च शिक्षा मंत्री माहेश्वरी ने कहा कि इस स्थल का समुचित विकास होने से यहां दर्शनार्थियों व पर्यटकों की ख़ासी आवक की सम्भावना रहेगी जिसे देखते हुए यहां पर्याप्त पार्किंग व्यवस्था करना बेहद जरूरी है। उच्च शिक्षा मंत्री ने यहां बने पुराने द्वार से मंदिर तक रास्ते को श्रद्धालुओं की आवाजाही के मद्देनजऱ पर्याप्त चौड़ा एवं दुरुस्त करने तथा अवरोध हटाने के निर्देश भी दिए। मंदिर से सटे एक हिस्से में खस्ताहाल पुराने शौचालय को देख उच्च शिक्षामंत्री ने यहां नए ढंग से टॉयलेट ब्लॉक निर्माण कर पुरुषों व महिलाओं के लिए अलग-अलग व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने मंदिर के चारों तरफ क्षतिग्रस्त चारदीवारी को ठीक करने सहित विभिन्न बिंदुओं पर अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए।इस दौरान उच्च शिक्षामंत्री ने कहा कि इस स्थल का विकास ऐतिहासिक कार्य होगा तथा यहां ?सा खूबसूरत स्थल बनेगा जो धार्मिक व पर्यटन की दृष्टि से बेहद कारगर होगा। इस मौके पर नगर परिषद् सभापति श्री सुरेश पालीवाल ने यहां चल रहे विकास कार्यों पर चर्चा की और पर्यटन की व्यापक सम्भावनाओं को देखते हुए यहां पर्याप्त सुविधाएं मुहैया कराने के सन्दर्भ में सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि इस स्थल को नया स्वरूप देने में परिषद् सदैव तत्पर है। उन्होंने बताया कि नगर परिषद्, वन एवं लोक निर्माण विभाग के साझे प्रयासों से यहां विकास हो रहा है तथा परिषद् ने 1.25 करोड़ रुपए की राशि दी है। दौरे में नगर परिषद् आयुक्त श्री ब्रजेश रॉय, विद्युत निगम एवं जलदाय विभाग के अधिशाषी अभियन्ता, सहित अन्य अधिकारी, समाजसेवी आदि भी साथ थे। उच्च शिक्षा मंत्री ने शहर में निर्माणाधीन गौरव पथ कार्य की मंथर गति पर मौके पर मौजूद ठेकेदार से जवाब मांगा तथा लोक निर्माण, विद्युत निगम व नगर परिषद् अधिकारियों को आपसी समन्वय स्थापित कर इस कार्य में आ रही बाधा तत्काल दूर कर कार्य को गति देने के निर्देश दिए। इसके बाद उच्च शिक्षा मंत्री ने नौचौकी पर राणा राजसिंह पेनोरमा का कार्य देखा वहीं पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के अधीन चल रहे विकास कार्यों का अवलोकन भी किया।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *