किशोर को श्रीगंगानगर लाने पर 90 हजार खर्च

श्रीगंगानगर, 27 सितम्बर (नि.स.)। मुम्बई से एक किशोर को श्रीगंगानगर की कोर्ट में पेश करने लाने पर मुम्बई पुलिस के हजारों रुपये खर्च हो गये। यह किशोर मुम्बई में एक चोरी करते हुए पकड़ा गया था। उस पर श्रीगंगानगर में भी चार मुकदमे चल रहे थे। दो मुकदमों में वह बरी हो चुका है। बाकी दो मुकदमों में यहां की एक कोर्ट ने उसकी गिरफ्तारी के वारंट जारी किये हुए थे। मुम्बई से एक एएसआई और पांच सिपाहियों का दल इस किशोर को, जो अब बालिग हो चुका है, को रेल से सफर तय कर श्रीगंगानगर लाई। यहां इस पुलिस दल को दो-तीन दिन ठहरना पड़ा। कोर्ट के आदेश से इस युवक को अब भीलवाड़ा स्थित क्रेक्शन हाऊस भेजा गया है, लेकिन उसे मुम्बई से श्रीगंगानगर लाने और मुम्बई पुलिस के वापिस जाने पर करीब 90 हजार रुपये टीए-डीए पर ही खर्च हो गये। मामला ये है कि वर्ष 2012 में श्रीगंगानगर में एक गिरोह ने तीन-चार एटीएम मशीनों से बड़े शातिर तरीके से रकमें चोरी कर ली थीं। पुलिस ने जब इस गिरोह को पकड़ा, तो इसमें वार्ड नं. 1 में देवनगर का 17 वर्षीय किशोर रिंकू (नाम तब्दील) भी था। नाबालिग होने के कारण रिंकू पर किशोर न्याय बोर्ड में पुलिस ने चालान पेश किये। रुपये चोरी के चार मुकदमे दर्ज किये गये थे।
इनमें से दो में रिंकू बरी हो गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *