संगरिया में भाजपा नेत्री के घर में हुई लाखों की नकबजनी

श्रीगंगानगर, 13 जून (का.सं.)। इलाके में सक्रिय हुए मध्यप्रदेश के पारदी गैंग ने मंगलवार-बुधवार की रात को हनुमानगढ़ जिले में भाजपा की एक नेत्री के घर पर धावा बोल दिया। घर में सोये हुए परिवार के सदस्यों को उनके कमरों के दरवाजों पर कूंटे लगाकर यह गिरोह लगभग दो क्विंटल वजनी तिजौरी को कचरा ढोने वाली रेहड़ी-ट्रॉली पर लादकर करीब डेढ़ किमी दूर रतनपुरा माइनर नहर पर ले गया। वहां एक सूने कमरे में इस तिजोरी को तोड़कर उसमें रखे सोने-चांदी के जेवरात और नकदी लेकर फरार हो गया। संगरिया पुलिस ने बताया कि यह घटना वार्ड नं. 23 में जम्भेश्वर मन्दिर के पीछे रहने वाले विजेन्द्र कस्वा के घर रात्रि 2 से 3 बजे के बीच हुई। विजेन्द्र कस्वा की पत्नी सुमन कस्वा भाजपा महिला मोर्चा की जिला प्रवक्ता हैं। पुलिस के मुताबिक घर में पति-पत्नी, पुत्र के अलावा विजेन्द्र की वृद्ध मां थी। पति, पत्नी और पुत्र कमरे में एसी चलाकर सोये हुए थे। वृद्ध मां दूसरे कमरे में थी। इस घर में भी पारदी गैंग ने बाहर की तरफ बने कमरे की खिड़की पर लगी ग्रिल को खोलकर अंदर प्रवेश किया। उन्होंने पहले उन कमरों के कूंटे बाहर से बंद कर दिये, जिसमें यह परिवार सोया हुआ था। पुलिस ने बताया कि लगभग दो क्विंटल वजनी तिजौरी अन्य कमरे में रखी हुई थी। इस कमरे में बैड के गद्दे पर तिजौरी को डालकर उसे घसीटकर घर से बाहर ले आये। आसपास किसी गली में खड़ी की हुई नगरपालिका द्वारा कचरा ढोने वाली रेहडी-ट्रॉली इस गिरोह को मिल गई, जिस पर तिजौरी को लादकर करीब डेढ़ किमी दूर रतनपुरा माइनर नहर पर एक सूने कमरे में ले गये। इस कमरे में पहले शराब का ठेका हुआ करता था। इसी कमरे में तिजौरी को तोड़ा और उसमें रखे 18 तौले सोने के जेवरात व चार-पांच हजार रुपये निकालकर ले गये। सुबह करीब 6 बजे परिवारजन उठे, तो बाहर कूंटे लगे होने के कारण दरवाजे नहीं खर्ले। तब उन्होंने फोन करके एक पड़ोसी को बुलाया, जिसके बाद यह चोरी का पता चला। मौके पर डीएसपी देवानंद, सब इंस्पेक्टर मांगूराम ने आकर जांच-पड़ताल करनी शुरू कर दी। पुलिस ने बताया कि सुमन कस्वा के मकान से कुछ ही दूर पर आगे एक मोड़ पर सीसी कैमरे लगे हुए हैं। इन कैमरों को चैक किया गया, तो तड़के 2.40 बजे छह नकाबपोश व्यक्ति, जिन्होंने कैपरी पहनी हुई थी, एक ट्रॉली में तिजौरी को ले जाते हुए दिखाई दिये। इसके बाद पुलिस की टीमों को उसी तरफ दौड़ाया गया। बाद में कमरे में टूटी हुई तिजौरी मिली। घटनास्थल पर एमओबी, एफएसएल की टीमों को अपनी कार्यवाही के लिए बुला लिया गया। दोपहर को हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय से आये अधिकारियों ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया। पुलिस ने बताया कि यह वारदात उसी गिरोह द्वारा की गई लग रही है, जिसने रविवार-सोमवार की रात को पीलीबंगा में व्यापारी नेता सुभाष भादू के घर में डकैती की थी। सुभाष भादू और उसकी पत्नी को बंधक बनाकर यह गिरोह 30 तौले सोना, दो लाख का कैश और वैगनार गाड़ी लूट ले गया था। गाड़ी बाद में सूरतगढ़ रोड पर टोल नाके के पास लावारिस मिली। ठीक ऐसी ही घटना श्रीगंगानगर जिले के पदमपुर कस्बे में हुई थी। वहां भी खिड़की पर लगी ग्रिल को तोड़कर अंदर घुसे नकबजन एक अलमारी को उठाकर बाहर चारदिवारी में ले आये थे। इसी अलमारी में रखे सोने-चांदी के जेवरात और नकदी लेकर फरार हो गये थे। इसी तरह की घटनाएं घड़साना कस्बे और चूरू जिले में भानीपुरा थाना इलाके में हाल के दिनों में हुई है। श्रीगंगानगर में भी ऐसी ही एक घटना डेढ़-दो महीने पहले हुई थी। पुलिस इन वारदातों में मध्यप्रदेश के किसी पारदी गैंग का हाथ होना बता रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *