राजस्थान की भूमि है वीर प्रसूता भूमि-खान

 

शहीद कैप्टन चंद्र चौधरी के शहादत दिवस पर रामसरा बिग्गाबास में कार्यक्रम आयोजित
जयपुर, 9 सितम्बर (कासं)। सार्वजनिक निर्माण विभाग तथा यातायात मंत्री युनुस खान ने कहा कि राजस्थान की भूमि वीर प्रसूता भूमि है। यहां के अनेक सपूतों ने मातृभूमि के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर किया है। सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री शनिवार को शहीद कैप्टन चंद्र चौधरी के शहादत दिवस पर बिग्गाबास रामसरा में शहीद कैप्टन चंद्र चौधरी संस्थान द्वारा आयोजित समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज राजस्थान के हजारों सपूत देश की सीमाओं की रक्षा में जुटे हैं। वे सर्दी-गर्मी या अन्य प्रतिकूल परिस्थितियों की परवाह किए बिना भारत माता की सेवा कर रहे हैं। इनके त्याग की बदौलत हम सुरक्षित जीवन यापन कर रहे हैं। उन्होंने शहीद कैप्टन चंद्र चौधरी को सच्चा देशभक्त बताते हुए कहा कि आने वाली पीढिय़ां उनसे प्रेरणा लेंगी। उनके बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। उन्होंने कहा कि सरकार शहीदों और उनके परिजनों के प्रति अत्यंत सम्मान की भावना रखती है। सार्वजनिक निर्माण मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नेतृत्व में राजस्थान देश का अग्रणी राज्य बन गया है। सड़क निर्माण में राजस्थान, पूरे देश में प्रथम स्थान पर है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री राजे ने 5 वषों में 20 हजार किलोमीटर नई सड़कें बनाने का लक्ष्य निर्धारित दिया था, विभाग ने इस लक्ष्य को तीन वर्षों में पूर्ण कर लिया है। वर्तमान में 37 हजार किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया जा रहा है। वहीं 28 हजार किलोमीटर सड़कों का निर्माण पूर्ण हो चुका है। प्रतिदिन 15 किलोमीटर नई सड़क बनाकर, 5 नये गांवों को सड़कों से जोड़ा जा रहा है। 18 किलोमीटर टूटी हुई सड़कों का प्रतिदिन नवीनीकरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस मामले में राजस्थान मॉडल प्रदेश बन गया है, नीति आयोग ने भी इसकी सराहना की है। सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बाड़मेर, जैसलमेर, डूंगरपुर, बासंवाड़ा के 2800 मगरे, ढाणियों को सड़कों से जोडऩे का कार्य किया गया है। प्रदेश की 9 हजार 800 से अधिक ग्राम पंचायतों में ग्रामीण गौरव पथ बनाए जाएंगे। इसी श्रृंखला में उन्होंने रामसरा बिग्गाबास में 60 लाख रूपये की लागत से गौरव पथ बनाए जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि अगले 1 वर्ष में सड़कतंत्र का सुदृृढ़ीकरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि में राजस्थान में राष्ट्रीय राजमार्ग क्षेत्र की लंबाईं 7 हजार 318 किलोमीटर थी, जो अब बढ़कर 14 हजार किलोमीटर से अधिक हो जाएगी। इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार जताया। शहीदों को परिजनों को मंच पर बिठाया : सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री ने मंच व्यवस्था में फेरबदल करवाते हुए शहीदों के परिजनों को मंच पर बिठाया। उन्होंने कहा कि वर्तमान कार्यकाल में बतौर मंत्री उन्होंने डीडवाना में शहीद जीवनराम स्मारक से उनकी ढाणी तक 3 किलोमीटर सड़क निर्माण की स्वीकृति दी। उन्होंने कहा कि इसी श्रृंखला में बिग्गाबास से अमृतवासी तक की सड़क की स्वीकृति दी गई है। यह शहीदों और उनके परिजनों के प्रति सम्मान का द्योतक है। डूंगरगढ़ पंचायत समिति के प्रधान रामलाल मेघवाल ने शहीद कैप्टन चंद्र चौधरी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला। सहीराम दुसाद ने कहा कि बिग्गाबास से अमृतवासी तक बनने वाली नई सड़क 100 गांवों को जोडऩे का काम करेगी। शहीद कैप्टन चंद्र चौधरी के पिता कन्हैयालाल सियाग ने गांव में हो रहे विकास कार्यों के लिए आभार जताया और बिग्गाबास में आरयूबी बनाने, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने और बोर्ड परीक्षा केन्द्र स्थापित करने की मांग की। बीकानेर नगर निगम के महापौर नारायण चौपड़ा ने आभार व्यक्त किया। सार्वजनिक निर्माण मंत्री ने इससे पहले शहीद कैप्टन चंद्र चौधरी की प्रतिमा पर पुष्प चक्र अर्पित किया और वहां रखे टैंक का अवलोकन किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, ग्रामीण, विद्यार्थी एवं कार्मिक उपस्थित थे।
सड़क का शिलान्यास सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री ने रामसरा बिग्गाबास से अमृतवासी तक बनने वाली 8 किलोमीटर सड़क का शिलान्यास किया। इस निर्माण कार्य पर 2 करोड़ रूपये व्यय किए जाएंगे। उन्होंने ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं और उनके समाधान हेतु कार्यवाही करने के अधिकारियों को निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *