यहां जानें कैैसे पेरेंट्स का आपसी प्यार बच्चे के लिए सीख बन जाता है

बच्चों की अच्छी आदतों के पीछे उनके माता-पिता की खुशहाल शादीशुदा जिंदगी का काफी योगदान है। जानकारों की मानें तो खुशहाल माता-पिता के बच्चे पढ़ाई में अच्छे होते हैं। इतना ही नहीं उनमें आत्मविश्वास भी अधिक होता है। चलिए जानते हैं ऐसी ही कुछ आदतों और व्यवहार के बारे में जो आपके लाडले के उज्ज्वल भविष्य के लिए जरूरी हैं।
शांति से मिटाएं मतभेद: अक्सर आपका बच्चा अपने पापा के प्रति आपके व्यवहार पर गौर करता है। जानकारों की मानें, तो आपका बच्चा हमेशा इस ओर ध्यान देता है कि उसके माता-पिता आपस में किस तरह से बात और व्यवहार करते हैं। माता-पिता का एक-दूसरे के प्रति गुस्सा और अनादर बच्चे पर नकारात्मक प्राभाव डालता है। सॉफ्ट स्किल्स ट्रेनर रश्मि गर्ग का कहना है कि बच्चे बेहद संवेदनशील होते हैं। वो माहौल को बहुत जल्द भांप जाते हैं। साथ ही वह वैसा ही बर्ताव करते हैं, जैसा वे घर में देखते हैं। आपको अपने व्यवहार से बच्चे को सिखाना चाहिए कि मतभेदों को शांतिपूर्वक कैसे सुलझाया जा सकता है।
तारीफ है जरूरी: तारीफ हर शख्स को सुननी अच्छी लगती है। लेकिन इस बात में भी कोई दो राय नहीं है कि हम अकसर तारीफ करना भूल जाते हैं। सराहना करने से पीछे न हटें। एक-दूसरे की सराहना करें, साथ ही बच्चे की भी। कभी-कभार माता-पिता द्वारा बच्चे की तारीफ करना, बच्चे के व्यवहार को निखार देता है।
वक्त देना भी है जरूरी: दौड़ती-भागती जिंदगी में वक्त कब और कैसे बीत जाता है, पता ही नहीं चलता। पर, आपका अपने बच्चे के लिए समय निकालना भी जरूरी है। व्यस्तता के बाद भी जो पेरेंट्स अपने बच्चों के लिए समय निकालते हैं, उनके बच्चे जल्दी सीखते हैं। मनोवैज्ञानिकों के मुताबिक जो पेरेंट्स बच्चे के साथ ज्यादा वक्त बिताते हैं, उन बच्चों की बोलने की क्षमता बेहतर होती है।
गलती को नजरअंदाज करना सीखें: आपके पार्टनर और आपका एक-दूसरे की गलतियों को नजरअंदाज करना आपके बच्चे के लिए एक अच्छा पाठ साबित हो सकता है। ऐसा रवैया बच्चे के जेहन में इस बात को साफ करता है कि गलती किसी से भी हो सकती है। लिहाजा वह गलती पर माफी मांगना और माफ करना दोनों की अहमियत को समझने में सक्षम हो जाता है।
साझा करें जिम्मेदारियां: जिंदगी के हर रिश्ते की गाड़ी उसके दोनों पहियों पर चलती है। एक-दूसरे की चिंता करना, जिम्मेदारियों को साझा करना आदि कुछ ऐसी आदते हैं, जो बच्चे को बेहतर इंसान बनाती हैं। आप एक-दूसरे की जिम्मेदारियों को साझा करके बच्चे को अच्छा इंसान बनाने की दिशा में कदम बढ़ा सकती हैं।
तनाव पर रखें काबू : जिंदगी के रास्ते में कब स्पीड ब्रेकर आ जाए, कहा नहीं जा सकता। पर, मुश्किल दौर में तनाव पर काबू रखना और रिश्ते में पहले जितना विश्वास कायम रखना आपके बच्चे को बहुत कुछ सिखा सकता है। इससे वह धीरज रखने का पाठ पढ़ेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *