‘लेट्स वोट जयपुर और ‘वोट डालबा चालो जयपुर से गूंजी गुलाबी नगरी

रामनिवास बाग से दस एवं पांच किलोमीटर की मैराथन का आयोजन

लोकतंत्र के उत्सव में भागीदारी का दिया पैगाम

जयपुर, 28 अक्टूबर (का.सं.)। लोकतंत्र की मजबूती के लिए जोश एवं उत्साह से सरोबार जयपुरवासियों ने रविवार को गुलाबी नगर की सुहानी सुबह को ‘लेट्स वोट जयपुर और ‘वोट डालबा चालो जयपुर से गुंजायमान कर दिया। युवाओं, महिलाओंं एवं बुजुर्गों से लेकर दिव्यांगजनों तक सभी ने एक स्वर में आगामी विधानसभा चुनाव में हर वोटर की भागीदारी सुनिश्चित करने का संदेश दिया। विधानसभा आम चुनाव-2018 में मतदाताओं को मताधिकार के प्रति जागरूक करने के लिए रविवार को जेएलएन मार्ग पर रामनिवास बाग से ‘लेट्स वोट जयपुर मैराथन का आयोजन किया गया। लोकतंत्र के उत्सव में शरीक होने की खुशी के साथ अलसुबह से ही स्कूल-कॉलेज के बच्चे और आम जयपुरवासी रामनिवास बाग के दक्षिण द्वार पर जुटना शुरू हो गए। कुछ ही समय में ‘लेट्स वोट जयपुर के ‘लोगो’ वाली सफेद टी शर्ट पहने हजारों प्रतिभागियों से पूरा क्षेत्र भर गया। जबरदस्त उत्साह के माहौल के बीच मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनन्द कुमार, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी जोगाराम, जिला निर्वाचन अधिकारी सिद्धार्थ महाजन, राजस्थान सिविल सेवा अपीलेट ट्रिब्यूनल चेयरमैन ओपी सैनी, उद्योग एवं सीएसआर विभाग के आयुक्त समित शर्मा, जयपुर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) अजयपाल लाम्बा, जिला परिषद् के सीईओ एवं प्रभारी अधिकारी (स्वीप प्रकोष्ठ) आलोक रंजन ने झण्डी दिखाकर दौड़ में शामिल प्रतिभागियों को रवाना किया। ‘लेट्स वोट जयपुर और ‘वोट डालबा चालो जयपुर के नारों की गूंज के साथ सबसे पहले पांच किलोमीटर की दौड़ में भाग लेने वाले प्रतिभागी रवाना हुए जो गांधी सर्किल से यू-टर्न लेकर वापस प्रारम्भिक बिन्दु पर पहुंचे। उसके बाद दस किलोमीटर की दौड़ वाले प्रतिभागी रवाना होकर एमएनआइटी से यू-टर्न लेकर वापस रामनिवास बाग पहुंचे। मैराथन में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में पहुंचे दिव्यांगजनों ने भी अपूर्व जोश के साथ रामनिवास बाग के दक्षिणी द्वार से त्रिमूर्ति सर्किल तक दौड़ लगाई। सभी श्रेणियों में दौड़ लगाने वाले प्रतिभागियों को मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनन्द कुमार, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. जोगाराम एवं जिला निर्वाचन अधिकारी सिद्धार्थ महाजन सहित अन्य अतिथियों ने मेडल पहनाकर सम्मानित किया।’स्लोगंस’ के जरिए वोट डालने की अपील पूरी मैराथन के दौरान प्रतिभागी ‘वोटर लिस्ट में नाम लिखाएं, वोटर कार्ड सभी बनाएं, ‘आपका मतदान, लोकतंत्र की जान, ‘समझदार की पहचान, वोट का निशान, ‘सारे काम छोड़ दो, पहले वोट दो, ‘बूढ़ा हो या जवान, सभी करें मतदान, ‘युवा हो तुम देश की शान, जागो उठो करो मतदान, ‘दिखानी है अगर देशभक्ति, इस्तेमाल करें अपनी वोट शक्ति, ‘घर-घर अलख ले जाएंगे, मतदाता जागरूक बनाएंगे एवं ‘साडा हक, इत्थे रख जैसे नारे लिखी तख्तियां हाथों में लिए शहरवासियों को 7 दिसम्बर को वोट डालने के लिए प्रेरित करते रहे। दिव्यांगजनों ने लोकतंत्र की मजबूती के लिए ‘दिव्यांगों की है यह पुकार, वोट देना है अबकी बार…हम चुनेंगे सही चुनेंगें, अच्छे को चुनेंगे सच्चे को चुनेंगे… जैसी मार्मिक अपील कर मौजूद लोगों का खूब ध्यान खींचा।फिटनेस के प्रति अवेयर रहकर लोकतंत्र को मजबूत बनाए मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनन्द कुमार ने प्रदेशवासियों से मतदान करने और अन्य लोगों को वोट डालने के लिए जागरूक करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि ‘लेट्स वोट जयपुर मैराथन के आयोजन का उद्देश्य लोगों को स्वास्थ्य और फिटनेस के प्रति अवेयर रहते हुए लोकतंत्र की मजबूती के लिए मतदान के प्रति जागरूक करना है। इस सफल आयोजन के लिए जयपुर जिला निर्वाचन अधिकारी और पूरी टीम की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि मतदाताओं को जागरूक करने के लिए प्रदेश भर में इस तरह के कई कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। कहीं संकल्प पत्र भरवाए जा रहे हैं, कहीं बच्चे रैलियां निकाल रहे हैं तो कहीं बुजुर्ग प्रेरित कर रहे हैं।’वोटर लिस्ट में 9 नवम्बर तक जुड़वाएं अपना नाम आनन्द कुमार ने कहा कि जिनका नाम वोटर लिस्ट में आने से छूट गया है, वह अपना नाम वोटर लिस्ट में जुड़वाएं। एक जनवरी 2018 को 18 साल की आयु पूरी करने वाले सभी लोग अपना नाम जुड़वा सकते हैं। यह कार्य 9 नवम्बर तक होगा। उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि विधानसभा चुनावों में मतदाता ज्यादा से ज्यादा संख्या मेंं बूथ पर पहुंचे और किसी भी प्रकार के दबाव में न आकर अपने विवेक से वोट दें और अपनी पसन्द की सरकार चुनें।’सात दिसम्बर को जरूर करें मतदान जिला निर्वाचन अधिकारी सिद्धार्थ महाजन ने प्रतिभागियों से ज्यादा से ज्यादा लोगों को वोट डालने के लिए जागरूक करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि जिले के सभी मतदाता 7 दिसम्बर को मतदान केन्द्र पहुंचे और अपने मताधिकार का प्रयोग करें। उन्होंने बताया कि जिले भर में स्वीप कार्यक्रम के तहत सभी 19 विधानसभा क्षेत्रों में मतदाता जागरूकता गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। लोगों को ईवीएम-वीवीपैट की कार्यप्रणाली के बारे में डेमो दिया जा रहा है और मतदान के महत्त्व के बारे में रैलियों एवं विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से संदेश का प्रसार किया जा रहा है।सेल्फी बूथ पर ‘माई वोट, माई राइट का अहसास इस अवसर पर मतदाता हेल्प डेस्क, डमी बूथ एवं सेल्फी बूथ भी लगाए गए। लोगों ने जयपुर के प्रसिद्ध हवामहल की थीम वाले सेल्फी बूथ पर खूब सेल्फी ली और वोटर होने के गर्व और ‘माई वोट, माई राइट का अहसास महसूस किया। मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनन्द कुमार एवं जिला निर्वाचन अधिकारी सिद्धार्थ महाजन ने सेल्फी बूथ के आकर्षक झरोखे से झांककर साथ में फोटो खिंचवाई।डमी मतदान कर जानी वीवीपेट की कार्यप्रणाली मतदाता हेल्प डेस्क एवं डमी बूथ पर मतदान प्रक्रिया की बारीकियां समझने वालों की भीड़ लगी रही। लोगों ने सबसे ज्यादा वीवीपेट की कार्यप्रणाली जानने में रूचि दिखाई। उन्होंने डमी मतदान के बाद वीवीपैट के माध्यम से ऑटोमेटिकली निकलने वाली पर्ची को देखते हुए ईवीएम पर दिए गए वोट से मिलान करते हुए अपनी जिज्ञासाओं को शांत किया और इनकी कार्यप्रणाली को समझा।
हस्ताक्षर कर कहा-‘आई एम वोटिंग! यस’ लोगों को मतदान के लिए जागरूक करने का संकल्प दिलाने के लिए हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया। मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनन्द कुमार, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. जोगाराम एवं जिला निर्वाचन अधिकारी सिद्धार्थ महाजन सहित मौके पर अधिकारियों, प्रतिभागियों और अन्य लोगों ने हस्ताक्षर कर खुद वोट डालने और अन्य लोगों को मतदान के लिए जागरूक करने का संकल्प लिया और कहा, ”आई एम वोटिंग! यस”।
ये भी रहे प्रतिभागियों में शामिल शहरी विधानसभा क्षेत्र किशनपोल, आदर्श नगर, हवामहल, सिविल लाइन्स, विद्याधर नगर, मालवीय नगर, बगरू, सांगानेर, झोटवाड़ा एवं आमेर स्थित विभिन्न स्कूल-कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने ‘लेट्स वोट जयपुरÓ मैराथन में भाग लिया। इनके अलावा आम नागरिक, युवा, खिलाड़ी एवं महिलाओं सहित वरिष्ठ नागरिकों ने भी बड़ी संख्या में हिस्सा लिया। साथ ही इन क्षेत्रों में कार्यरत सभी बीएलओ एवं सुपरवाइजर भी मैराथन दौड़ में शामिल हुए।
इन संस्थाओं से जुड़े सैकड़ों दिव्यांगजन हुए शामिल सोसाइटी फॉर वेलफेयर आफ मेंटली हैंडीकैप, स्वीट वॉयस मूक बधिर आवासीय विद्यालय, गोविंदगढ़., सम्बल समिति, जगतपुरा, गरिमा स्पेशल स्कूल, जामडोली, नव चेतना संस्थान, अग्रवाल फार्म, नेहरू आदर्श जन स्वास्थ ग्रामीण विकास संस्थान, प्रयास विशेष शिक्षण संस्थान, जैमिन शिखा, तिलक नगर, दिशा व्यावसायिक संस्थान, निर्माण नगर, गुरुकुल सोसाइटी, लुइ ब्रेल विकास संस्थान व राजकीय सेठ आनंदी लाल पोद्दार मूक बधिर विद्यालय आदि संस्थाओं से जुड़े करीब पांच सौ दिव्यांगजन शामिल हुए।
लस्सी-छाछ पीकर हुए तरोताजा मैराथन पूरी होने के बाद सरस डेयरी की ओर से लस्सी-छाछ का वितरण किया गया जिससे प्रतिभागी तरोताजा हो गए। दौड़ से सम्बंधित व्यवस्थाओं में नगर निगम, जयपुर विकास प्राधिकरण, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, नागरिक सुरक्षा विभाग के वॉलन्टियर्स सहित अन्य विभागों की भागीदारी रही। ट्रैफिक पुलिस की ओर से यातायात व्यवस्था बनाए रखने एवं मैराथन के सफल आयोजन के लिए रूट डायवर्जन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *