चार सशस्त्र लुटेरे लूट ले गये साढ़े 16 लाख का कैश

गार्ड को टेप से बांधा, एटीएम को गैस कटर से काटा

श्रीगंगानगर, 10 जुलाई (का.सं.)। चार नकाबपोश सशस्त्र लुटेरों ने मंगलवार बड़े तड़के एसबीआई बैंक की एक एटीएम से साढ़े 16 लाख का कैश लूट लिया। लुटेरों ने एटीएम पर तैनात सिक्योरिटी गार्ड को बंधक बनाकर पीछे के कैबिन में धकेल दिया। गैस कटर से एटीएम मशीन को ेकाटा और उसके कैशबिन में रखे 16 लाख 50 हजार से अधिक की नकदी को लेकर फरार हो गये। तड़के लगभग सवा 4 बजे इस वारदात की सूचना मिली, तो जिला पुलिस के अधिकारी आनन-फानन में घटनास्थल पर पहुुंचे। लुटेरों को पकडऩे के लिए पूरे इलाके में नाकाबंदी करवाई, लेकिन तब तक उन्हें फरार हुए लगभग एक घंटा हो चुका था। यह लुटेरे हाथ नहीं आये, लेकिन विभिन्न स्थानों पर लगे सीसी कैमरों में वे दिखाई दिये हैं। इन्हीं के आधार पर ही पुलिस अब इस गैंग की तलाश में जुटी हुई है। इस घटना का सादुलशहर थाना में अज्ञात लुटेरों के खिलाफ धारा 392 के तहत एसबीआई शाखा प्रबंधक ने मुकदमा दर्ज करवाया है। श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ स्टेट हाइवे पर स्थित गांव मोरजंडखारी में एसबीआई शाखा की एटीएम पर लूट की यह वारदात तड़के सवा 3 से पौने 4 बजे के बीच हुई। गांव के अंदर मेन रोड पर एसबीआई की शाखा है, जिसके बाहर एक छोटे से कैबिन में एटीएम लगी हुई है। इस एटीएम पर बैंक ने गार्ड लगा रखे हैं। बीती रात एटीएम की सुरक्षा के लिए गार्ड दयाराम की ड्यूटी थी। तड़के सवा 3 बजे अचानक दो नकाबपोश युवक कैबिन में आये। आते ही एक युवक ने दयाराम पर पिस्तौल तान दी और उसे शोर न मचाने की धमकी दी। लुटेरों ने दयाराम का मोबाइल फोन छीन लिया। दूसरे नकाबपोश ने उसके दोनों हाथ पीछे कर प्लास्टिक टेप से बांध दिये। दोनों ने उसे एटीएम मशीन के पीछे बने कैबिन में धकेलकर उसका गेट बंद कर दिया। इसके बाद इन दोनों लुटेरों के बाहर खड़े दो और साथी कैबिन में आ गये। चारों लुटेरों ने करीब 20 मिनट मेें एटीएम मशीन को गैस कटर से काट दिया। उसके कैशबिन में रखे सारे कैश को लेकर फरार हो गये। एटीएम के पीछे कैबिन में बंद गार्ड दयाराम को जब लगभग 10 मिनट तक कोई आवाज नहीं आई, तब उसे लगा कि लुटेरे भाग गये हैं। तत्पश्चात् उसने लातों से प्रहार कर कैबिन के गेट को तोड़ दिया। बाहर आकर उसने पड़ोस मेें वैल्डिंग वर्कशॉप चलाने वाले युवक को उठाया। इस युवक का परिवार पास में ही रहता है। उसने दयाराम के हाथों को खोला। इसी युवक का मोबाइल फोन लेकर दयाराम ने पहले थाने में और फिर बैंक के अधिकारियों को फोन किया। करीब सवा 4 बजे सादुलशहर थाना में दयाराम का फोन जाते ही पुलिस हरकत में आ गई। थानाप्रभारी बलराज सिंह मान, दलबल सहित मौके पर पहुंचे। उन्होंने मौके के हालात देखे और तुरंत ही बड़ृे अधिकारियों को सूचित किया।
एसपी पहुंचे मौके पर इस वारदात की सूचना मिलते ही श्रीगंगानगर से पुलिस अधीक्षक हरेन्द्र महावर ने घटनास्थल पर जांच-पड़ताल में सहयोग करने और लुटेरों का सुराग लगाने के लिए महिला थानाप्रभारी नरेन्द्र पूनिया व लालगढ़ जाटान थानाप्रभारी तेजवंत सिंह को भी मौके पर जाने के निर्देश दिये। ेइसके कुछ देर बाद पुलिस अधीक्षक हरेन्द्र महावर, अवर एसपी सुरेन्द्र सिंह राठौड़, डीएसपी (ग्रामीण) दिनेश मीणा भी घटनास्थल पर पहुंच गये। संदिग्ध लुटेरों के पद्चिह्न और फिंगर प्रिंट उठाने के लिए जिला मुख्यालय से एफएसएल, एमओबी और डॉग स्क्वायड की टीमों को बुलवाया गया। डॉग स्क्वायड से कोई खास मदद नहीं मिली, क्योंकि लुटेरे कार में आये थे। पुलिस अधिकारियों ने गार्ड दयाराम से जहां कड़ी पूछताछ की, वहीं गांव के भी लोगों से लुटेरों की संदिग्ध गाड़ी के बारे में जानकारी जुटाने की कवायद की। पुलिस को मिले फुटेज इस घटना की जानकारी मिलने पर मोरजंडखारी एसबीआई शाखा के प्रबंधक राजेश नागपाल और बैंक के अन्य वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर आये। उन्होंने एटीएम का कैश चैक करके बताया कि 16 लाख 50 हजार 800 रुपये गायब हैं। पुलिस ने इस एटीएम के कैबिन में लगे सीसी कैमरों की फुटेज कुछ ही देर में बैंक अधिकारियों से ले ली। इसमें तडके 3.15 बजे दो नकाबपोश युवक कैबिन में आते हुए, गार्ड पर पिस्तौल तानते, उसका मोबाइल छीनते और उसे कैबिन में धकेलते दिखाई दिये। इसके बाद दो और नकाबपोश कैबिन में आये, जिनके पास गैस कटर था। चारों लुटेरों ने बीस-पगाीस मिनट में एटीएम को काट दिया। अपने साथ लाये बैग में कैश डालकर वे निकल गये। पंजाबी बोल रहे थे लुटेरे पुलिस को पूछताछ में गार्ड दयाराम ने बताया कि चारों लुटेरे पंजाबी बोल रहे थे। पुलिस का अंदाजा है कि लूटपाट करने वाला यह गिरोह इसी इलाके का है या पंजाब-हरियाणा के समीपवर्ती क्षेत्र का कोई गिरोह हो सकता है। पुलिस की दो टीमें पंजाब व हरियाणा में भेजी गई हैं। यह टीमें श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ जिले से पंजाब व हरियाणा को जाने-आने वाले मार्गां पर विभिन्न स्थानों पर लगे सीसी कैमरों की फुटेज चैक कर रही है। एटीएम कैबिन से मिली फुटेज से भी पुलिस इन चारों लुटेरों का सुराग लगाने की कार्यवाही कर रही है।एटीएम को साइड से काटा मोरजंंडखारी की इस एटीएम लूट वारदात को दो दिन पहले राजस्थान के पाली जिले में हुई ऐसी ही एक घटना से जोड़कर देखा जा रहा है। पाली जिले में भी इसी तरह एक बैंक के कैबिन में लगी दो एटीएम मशीनों को लुटेरों ने गैस कटर से काट दिया। एक एटीएम से लुटेरों को 10 लाख से ज्यादा का कैश मिला। दूसरी एटीएम में 15 लाख से ज्यादा का कैश था, लेकिन इस एटीएम को लुटेरे जब काट रहे थे, तो गैस कटर की तपिश से अंदर रखे नोट जल गये थे। इस एटीएम को लुटेरों ने पहले काटा था। सामने से काटने के कारण उसमें रखे नोट जल गये। दूसरी एटीएम को साइड से काटा, जिस कारण नोट सुरक्षित रहे और लुटेरों के हाथ लग गये। मोरजंडखारी की वारदात में भी एटीएम को साइड से काटा गया है।एटीएम की सुरक्षा पर सवाल इन घटनाओं ने एटीएम मशीनों के सुरक्षित होने के दावे पर सवालिया निशान लगा दिया है। ऐसी बहुत सी घटनाएं हुई हैं, जिसमें चोरों-लुटेरों ने गैस कटर से एटीएम मशीन को काटने-तोडऩे की कोशिश की, लेकिन वे कैश तक नहीं पहुंच पाये। अलबत्ता ऐसी वारदातें भी बहुत सी हुई हैं, जिसमें गिरोह अपने वाहन में चैन पुलिंग लगाकर पूरी एटीएम को उखाड़ ले जाते थे। तीन वर्ष पहले ऐसे ही पंजाब के एक गैंग को स्थानीय पुलिस ने गिरफ्तार किया था, लेकिन अब यह कोई नया गिरोह है, जो एटीएम को उखाडऩे की बजाय साइड से काटकर कैश उड़ा ले जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *