नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष के बेटे की मौत के मामले में आया नया मोड

मेडिकल स्टोर संचालक विकास ने रेल से कटकर की थी आत्महत्या

श्रीगंगानगर, 15 मार्च (का.सं.)। रायसिंहनगर थाना क्षेत्र में विगत 14 जनवरी को सूरतगढ़ से श्रीगंगानगर आने वाली ट्रेन से गांव फौजूवाला में कट कर मरे गजसिंहपुर निवासी विकास शर्मा के मामले में नया मोड़ आ गया है। इस संबध में गजसिंहपुर निवासी एक जने सहित पांच जनों पर आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने का आरोप लगाते हुए मृतक के भाई विशाल शर्मा ने रायसिंहनगर थाना में मामला दर्ज करवाया है। यह मामला जिला पुलिस कप्तान के निर्देशानुसार रायसिंहनगर पुलिस थाना में मामला दर्ज हुआ है। मृतक के भाई ने इस संबध में जिला पुलिस कप्तान को लिखित परिवाद पेश किया था। मृतक विकास गजसिंहपुर नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष हरीश शर्मा का बेटा थ। प्राप्त जानकारी अनुसार गजसिंहपुर वार्ड नंबर 13 निवासी विकास शर्मा जो कि गजसिंहपुर-रायसिंहनगर मार्ग पर मेडिकल स्टोर का संचालन करता था,ने 14 जनवरी को गांव फ़ौजूवाला के निकट दोपहर पौने दो बजे गुजर रही ट्रेन के नीचे आकर आत्महत्या कर ली थी। इस संबध में पुलिस थाना रायसिंहनगर में मर्ग दर्ज हुई थी। अब मृतक के भाई विशाल शर्मा ने इस घटना को सामान्य मौत न बताकर पदमपुर निवासी राजीव जिंदल व बजरंग लाल, श्रीकरणपुर निवासी मांगी, घड़साना नई मंडी निवासी दीपू मिड्ढा व गजसिंहपुर निवासी मनोज गर्ग पर लेनदेन के मामले में षडयंत्र रचकर प्रताडि़त कर आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने का आरोप लगाया है। इस संबध में पुलिस थाना रायसिंहनगर में इन पांचों के विरुद्ध आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज हुआ है। इस मामले की जांच एसआई नाहर सिंह करेंगें।यह था मामला पुलिस सूत्रों के अनुसार विशाल शर्मा ने पुलिस अधीक्षक श्रीगंगानगर को प्रार्थना पत्र दिया था कि उसका भाई विकास शर्मा हँसमुख था। गजसिंहपुर बाजार में अ’छा कारोबार व लेनदेन करता था। इसके बावजूद उसकी ट्रेन से कटने से मृत्यु होने पर उसे संदेह हुआ की यह सामान्य मौत नहीं है। व्यापक छानबीन करने पर जानकारी मिली की पिछले दिनों से विकास शर्मा को राजीव जिंदल,बजरंग लाल, मांगी, दीपू मिड्ढा, में मनोज गर्ग द्वारा पैसों की लेनदेन के लिए प्रताडि़त कर रहे थे।गौरतलब है कि उक्त पांचों सट्टा व क्रिकेट बुक्की अवैध धंधे में संलिप्त है। इस बात की जानकारी मेडिकल स्टोर पर लगे राजू से मिली। उसने बताया कि पिछले कई दिनों से उक्त पांचों लोग मेडिकल स्टोर पर बार बार चक्कर लगा रहे थे। और विकास शर्मा से लेनदेन के पैसे देने की बात कह रहे थे। इतना ही नहीं वे विकास को धमकी भी देते थे कि अगर उसने पैसे नहीं दिए तो तुम्हें इस तरीके से मारेंगे कि किसी को भी शक भी नहीं होगा। वे ब’चों को अपहरण करके लेजाने और उन्हें मरवा देने की धमकियां भी दे रहे थे। राजू ने उसे बताया कि यह लोग विकास से एक-दो दिनप पहले ही दो लाख 70 हजार रुपये ले गये थे। इससे पहले भी वे विकास से रुपये ले जा चुके थे। इन बातों को लेकर विकास शर्मा बुरी तरह से भयभीत था। जिस दिन उक्त लोगों ने दुकान पर आकर विकास शर्मा से लड़ाई झगड़ा किया वह मारने की धमकी दी थी अगले ही रोज विकास शर्मा गांव फ़ौजू वाला के पास ट्रेन के नीचे आकर कट गया। मृतक के भाई विशाल शर्मा ने जिला पुलिस अधीक्षक श्री गंगानगर को इस परिवाद में मामले की जांच रायसिंहनगर थाना से न करवाकर गजसिंहपुर पुलिस थाना से करवाने की भी मांग की है। फिलहाल इस मामले की जांच रायसिंहनगर थाना के एसआई नाहरसिंह जांच कर रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *