शिक्षा विभाग का कोई कार्मिक नहीं करेगा नमूने लेने का कार्य

 

जयपुर, 15 जुलाई (कासं)। शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कतिपय समाचार पत्रों में प्रकाशित ‘शिक्षकों को घर-घर जाकर बच्चों के मल के नमूने लाने विषयक समाचार को भ्रामक बताते हुए स्पष्ट किया है कि शिक्षा विभाग का कोई भी कर्मचारी यह कार्य नहीं करेगा। उन्होंने स्पष्ट किया है कि सरकार का चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग अपने स्तर पर यह कार्य करेगा। डोटासरा ने स्पष्ट किया है कि इस संबंध में प्रसारित आदेशों को गलत ढंग से समझा गया है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों का कार्य अभिभावकों को छात्रों के स्वास्थ्य हित के इस कार्य में जांच के लिए प्रेरित करने का है ताकि किसी स्तर पर नमूने लेने वालों को कोई बाधा नहीं आए। गूरू पूर्णिमा की शुभकामनाएं : श्रेष्ठ समाज की नींव तैयार करते हैं शिक्षक शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने गुरू पूर्णिमा के अवसर पर राज्य के शिक्षकों को शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि शिक्षक अर्थात् गुरूजन ही देश के भविष्य का निर्माण करते है। शिक्षक विद्यार्थी का जीवन ही नहीं गढ़ते बल्कि श्रेष्ठ समाज की नींव तैयार करते हैं। डोटासरा ने कहा कि गुरू पूर्णिमा पर जारी अपने संदेश में कहा है कि गुरू को हमारे यहां गोविन्द से भी बड़ा बताया गया है। उन्होंने कहा कि शिक्षक समाज की आधारशिला हैं। समाज में व्याप्त अंधकार को दूर कर ज्ञान का प्रकाश कोई फैलाता है तो वह शिक्षक ही है। उन्होंने गुरू पूर्णिमा पर प्रदेश के शिक्षकों को प्रणाम करते हुए उनका आह्वान किया है कि वे राजस्थान को देश का अग्रणी शिक्षा राज्य बनाएं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *