कहा मार्बल पर कम हो जीएसटी की दर संसद में सांसद दीयाकुमारी की पैरवी

जयपुर, 28 नवम्बर (एजेंसी)। सांसद दीयाकुमारी ने मार्बल पर जीएसटी दर को कम करने की पैरवी करते हुए लोकसभा में कहा कि मार्बल व्यवसाय अब तक के सबसे कठीन दौर से गुजर रहा है। समकक्ष व्यवसायों पर टेक्स दर कम होने के कारण भी मार्बल पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है जिसका खामियाजा रोजगार के क्षेत्र को भुगतना पड़ रहा है। सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि राजस्थान मार्बल का सबसे अच्छा उत्पादक प्रदेश है और सघनता के लिहाज से राजसमंद सबसे बड़े क्षेत्रों में से एक है। राज्य की अर्थ व्यवस्था में भी मार्बल व्यवसाय का महत्वपूर्ण योगदान है।संसदीय क्षेत्र मीडिया संयोजक मधुप्रकाश लड्ढा ने बताया कि गुरुवार को लोकसभा के शीतकालीन सत्र में नियम 377 के तहत मार्बल पर जीएसटी दर को कम करने की मांग का कारण बताते हुए कहा कि मार्बल पर जीएसटी की उच्च दर के कारण मार्बल की खपत कम हो रही है। उपभोक्ता मार्बल पर 18त्न कर का भुगतान करने के लिए तैयार नहीं हैं क्योंकि मार्बल के समकक्ष व्यवसायों पर टैक्स दर बहुत कम है। टेक्स स्लैब ज्यादा होने के कारण मार्बल उद्योगों पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। खफत कम होने के कारण मार्बल व्यवसायी अपने व्यवसायों को बंद करने के लिए मजबूर हो रहे हैं जिसके परिणामस्वरूप बेरोजगारी बढ़ रही है और मार्बल उद्योग विलुप्त होने की कगार पर है। भारतीय मार्बल उत्पादकों को आयातित संगमरमर से भी कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है। सांसद दीयाकुमारी ने आसन के माध्यम से सरकार इंगित करते हुए कहा कि मार्बल पर जीएसटी की दर को कम करना चाहिए ताकि उपभोक्ता और व्यापारी दोनों को राहत मिल सके।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *