बालिका गृह की बेटियों को पढ़ाई के अवसर उपलब्ध कराएं-महाजन

जिला बाल संरक्षण इकाई की बैठक
जयपुर, 12 सितम्बर (कासं)। जिला कलक्टर सिद्धार्थ महाजन ने बालिका गृह में रहने वाली बेटियों को पढाई के लिए अवसर प्रदान करने और उन्हे इसके लिए निरंतर प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि बालिकाओं के पुनर्वास के तहत शिक्षा के माध्यम से सम्बल प्रदान करने को महाजन मंगलवार को जिला कलेक्ट्रेट में जिला बाल संरक्षण इकाई की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने बालिका गृह और बाल सुधार गृह के तहत संचालित कार्यक्रम और गतिविधियों के साथ पुनर्वास के लिए किए गए प्रयासों की समीक्षा की गई। जिला कलक्टर ने अधीक्षक को निर्देश दिए कि वे बालिका गृह के माध्यम से बेटियों के पुनर्वास से सम्बंधित विस्तृत रिपोर्ट तैयार करे, जिसमें उनका किस प्रकार पुनर्वास किया, उन्हें किस विद्यालय से जोड़ा गया और उन्होंने कहां तक शिक्षा प्राप्त की? आदि बिन्दुओं के सम्बंध में जानकारी का उल्लेख करे। बैठक में गांधी नगर स्थित बालिका सुधार गृह में सीएसआर के तहत विकास कार्यों की कार्य योजना पर चर्चा की गई। जिला कलक्टर ने महिला एवं बाल विकास की अतिरिक्त निदेशक एवं यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के अधिकारियों को योजना के अनुसार कार्यों को शीघ्र पूरा कराने को कहा। उल्लेखनीय है कि यूनियन बैंक के सहयोग से बालिका गृह में सिविल कार्यों के साथ-साथ अन्य साधन सुविधाएं विकसित करने के लिए 17 लाख रुपये की कार्य योजना बनाई गई है। महाजन ने बाल गृह के माध्यम से पुनर्वासित बालकों के बारे में अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसी काउंसलर के माध्यम से जितने बालक यहां से गए वे वर्तमान में क्या कर रहे है, इसका घर-घर विजीट करते हुए सर्वे कराए। बैठक में बाल श्रम से सम्बंधित कार्यों की प्रगति, बाल कल्याण समिति की गतिविधियों, मानव तस्करी यूनिट के कार्यों, संस्थाओं में बालकों के पुनर्वास एवं पुनस्र्थापन, बालकों के स्वास्थ्य परीक्षण, पोषण एवं शिक्षण के लिए किए गए कार्यों पर भी चर्चा की गई। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (दक्षिण) हरि सिंह मीना, बाल अधिकारिता विभाग की अतिरिक्त निदेशक श्रुति भारद्वाज के अलावा श्रम एवं नियोजन, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास तथा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अधिकारियों सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी और कार्मिक मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *