सरसों की एक साथ तुलाई के लिए राशि लेने के आरोप में मामले की जांच के आदेश

अनूपगढ़, 2 जून (एजेन्सी)। रामसिहपुर क्रय-विक्रय सहकारी समिति पर समर्थन मूल्य पर खरीद की जाने वाली सरसों की एक साथ तुलाई के लिए अवैध रूप से वसूली के मामले की जानकारी मिलने पर उपखंड अधिकारी मनमोहन मीणा ने जांच केआदेश दिए हैं। इस प्रकरण में उप रजिस्ट्रार सहकारी समिति को रिपोर्ट तैयार करने के लिए निर्देश दिए गए हंै। उपखंड अधिकारी मीणा के निजी सहायक शिव डेलू ने बताया कि रामसिंहपुर क्रय-विक्रय सहकारी समिति द्वारा एकटोकन पर एक दिन में काश्तकारों से 40 क्विंटल सरसों तोले जाने के बदले अवैध वसूली की जा रही थी तथा जो काश्तकार सरसों की तुलाई के लिए राशि नहीं देते थे, उन किसानों की सिर्फ 25 क्विंटल सरसों ही तुलाई की जा रही थी, शेष 15 क्विंटल सरसों का तुलाव करवाने के लिए किसानों को अगले दिन पुन: टोकन देकर नम्बर में लगकर तुलाई करवाई जा रही थी। उन्होंने बताया कि उपखंड अधिकारी को इस सम्बंध में दूरभाष पर शिकायत प्राप्त हुई, जिस पर उन्होंने व्यवस्थापक को फटकार लगाई। उपखंड अधिकारी मनमोहन मीणा ने उक्त प्रकरण की जांच करने हेतु उप रजिस्टार सहकारी समिति को लगाया है। उपखंड अधिकारी ने सभी खरीद केंद्रों के समस्त प्रभारियों को पारदर्शिता के साथ किसानों की जिन्स बिना किसी परेशानी के खरीद करने के निर्देश दिए है। रामसिहपुर खरीद केंद्र किसानों के लिए पानी की व्यवस्था नहीं पाई गई। कृषि पर्यवेक्षक की रिपोर्ट के अनुसार खरीद केंद्र पर किसानों की जिंसों की तुलाई के लिए एक ही कांटा पाया गया, जिससे किसानों की फ सल उसी दिन नहीं तोलकर अगले दिन तोली जा रही थी, जिससे किसानों को परेशानी हो रही थी। उपखंड अधिकारी ने बताया कि जिला कलैक्टर ने स्पष्ट निर्देश दिए थे कि किसानों को कोई परेशानी नहीं हो। इसके अलावा खरीद केंद्र पर बकरियों के विचरण करने का विडियो वायरल होने पर संज्ञान लेते हुए बताया कि केंद्र में व्यवस्थाओं में सुधार हेतु ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिस पर उपखंड अधिकारी मीणा ने क्रय-विक्रय सहकारी समिति के व्यवस्थापक को लापरवाही पर नोटिस देते हुए 3 दिवस के अंदर स्पष्टीकरण मांगा है। इसके अलावा अनूपगढ़ क्रय-विक्रय सहकारी समिति के व्यवस्थापक को तुलाई व्यवस्था में सुधार कर रिपोर्ट पेश करने के लिए निर्देशित किया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *