गांवों में आधारभूत संरचनाओं का निर्माण होने से ग्रामीणों के जीवन स्तर में हुआ बदलाव-राठौड़

जयपुर, 5 अप्रैल (का.सं.)। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने कहा है कि वर्तमान राज्य सरकार के गत चार वर्षों में गांवों में आधारभूत संरचनाओं का निर्माण होने से ग्रामीणों के जीवन स्तर में बदलाव नजऱ आने लगा है। राठौर गुरुवार को चूरू तहसील क्षेत्र के विभिन्न गांवों में ग्रामीण जन सम्पर्क अभियान के तहत ग्रामीणों से रू-ब-रू हो रहे थे। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि वे गांव के सर्वांगिण विकास में सक्रिय एवं सकारात्मक भूमिका दर्ज करावें। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गांव, गरीब एवं किसानों की हितेषी सरकार है इसी अवधारणा के अनुरूप गांवों में गौरव पथ, किसान पथ, विद्यालय विकास, पेयजल व ढाणियों का विद्युती करण, श्रमिक कार्ड एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीब एवं पात्र ग्रामीणों को आवास मुहैया कराने के सार्थक प्रयास किये जा रहे हैं। पंचायती राज मंत्री ने कहा कि राजस्थान में 28 लाख कृषकों का 50 हजार रुपये तक का फसल ऋण माफ किया गया है तथा 66 हजार करोड़ रुपये का ऋण किसानों के खातों में सीधा जमा कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जल की एक-एक बूंद के संरक्षण एवं उपयोग के लिए राज्य में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान संचालित किया जा रहा है तथा अभियान के तहत गांव एवं ग्रामीणों को जल की दृष्टि से स्वावलम्बी बनाया जायेगा।
राठौर ने गांव खारिया में 13 विकास कार्यों का लोकार्पण करते हुए कहा कि गांव में एमजेएसए अभियान के तहत खेतों में 113 कुण्ड, घरों में 70 निजी कुण्ड, गांव में 5 जोहड़ व होद का निर्माण करवाया जायेगा। उन्होंने ग्रामीणों की समस्याओं की सुनवाई करते हुए गांव में विद्यालय की चार दीवारी एवं रमसा के तहत 2 कमरों का निर्माण एवं श्मशान घाट की चार दीवारी निर्माण की घोषणा की।ग्रामीण विकास मंत्री ने गांव मोलीसर बड़ा में गत चार वर्षों में हुए विकास कार्यों की जानकारी देते हुए कहा कि गांव में 4 करोड़ के विकास कार्य होने से आज गांव की कायापलट हो गई है। उन्होंने कहा कि गांव में 60 लाख रुपये की लागत से गौरव पथ का निर्माण करवाया जायेगा तथा प्रधानमंत्री आवास योजनान्तर्गत पात्र ग्रामीणों को एक लाख 48 हजार रुपये से निर्मित आवास मुहैया करवाया जायेगा। पंचायती राज मंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर मोलीसर बड़ा से सहनाली तक सड़क निर्माण कराने की घोषणा करते हुए कहा कि 16 अप्रैल से गांवों में आयोजित ग्राम सभाओं में गांव के विकास के लिए एकजुट प्रयास करें। ग्रामीण जनसम्पर्क अभियान के तहत ग्रामीण विकास मंत्री ने गांव नाकरासर, रामदेवरा, बालरासर आथूणा, कुणसीसर एवं रामपुरा बास में ग्रामीणों से कहा कि गांव में गत चार वर्षों में हुए विकास कार्यो का मूल्यांकन करें तथा सकारात्मक सोच से गांव के विकास में समन्वित प्रयास करें। इस अवसर पर जिला प्रमुख हरलाल सहारण ने राज्य सरकार के गत चार वर्षों में गांवों में हुए विकास कार्यों की जानकारी देते हुए ग्रामीणों से कहा कि वे जात-पांत से ऊपर उठकर गांव के विकास में अपनी सक्रिय भूमिका दर्ज करावें। ग्रामीण विकास मंत्री के ग्रामीण दौरे के विभिन्न विभागों के अधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीणजन उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *