पंचायती राज राज्यमंत्री व कलक्टर ने की स्वच्छता के लिए पदयात्रा

बॉसवाड़ा जिले में फेफर से छोटी सरवन पदयात्रा में साढ़े चार सौ से अधिक ग्रामीण हुए सम्मिलित
जयपुर, 23 सितम्बर (कासं)। बॉसवाड़ा जिले में स्वच्छ भारत मिशन के तहत चलाए जा रहे ‘स्वच्छता ही सेवा अभियानÓ के तहत शनिवार को ग्रामीण विकास, पंचायती राज राज्यमंत्री धनसिंह रावत और जिला कलक्टर भगवतीप्रसाद के नेतृत्व में छोटी सरवन पंचायत समिति अंतर्गत फेफर में करीब आठ किलोमीटर की पदयात्रा का आयोजन किया गया। पदयात्रा में साढ़े चार सौ से अधिक लोगों ने पदयात्रा में भाग लेते हुए स्वच्छता का संदेश प्रतिध्वनित किया। सुबह साढ़े छ: बजे प्रारंभ हुई इस पदयात्रा के प्रति ग्रामीणों में भी अपूर्व उत्साह देखा गया और मंत्री, कलक्टर, प्रधान और अन्य जनप्रतिनिधियों को पदयात्रा में शामिल हुआ देख कर ग्रामीण भी जुट गए और ढ़ोल-ढ़माकों के साथ पदयात्रा करते हुए स्वच्छता के संदेश को आत्मसात किया। पदयात्रा में विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत के सरपंच, सचिव, स्कूल के प्रधानाचार्य, बड़ी संख्या में विद्यार्थी, चिकित्साधिकारी, एएनएम, आंगनवाड़ी कार्यकत्र्ता और अन्य विभागीय अधिकारी-कर्मचारी सम्मिलित हुए। ग्राम पंचायत फेफर के अटल सेवा केन्द्र से प्रारंभ हुई पदयात्रा करीब आठ किलोमीटर दूर सरवन ग्राम पंचायत के अटल सेवा केन्द्र पर थमी। यहां पर ग्राम पंचायत के सरपंच, वार्ड पंचों और बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने पदयात्रा का स्वागत किया। पदयात्रा उपरांत आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पंचायती राज राज्यमंत्री धनसिंह रावत ने कहा कि अब हर परिवार के लिए शौचालय बहुत जरूरी हो गया है। उन्होंने कहा कि गांव में माताओं, बहन-बेटियों और महिलाओं के सम्मान लिए हर परिवार शौचालय बनवाएं। आज सरकार हर परिवार को शौचालय बनवाने में सहयोग कर रही है तो हमारा भी दायित्व है कि इस सहयोग के सहारे हम शौचालय बनवाएं व घर परिवार को स्वस्थ बनावें। कलक्टर ने यहां ग्रामीणों को ंसंबोधित करते हुए कहा कि शिक्षा, स्वच्छता और स्वास्थ्य एक दूसरे के पूरक हैं और इनका मनुष्य जीवन में बड़ा महत्त्व है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता हमारे जीवन के लिए जरूरी है, गंदगी से सभी प्रकार की बीमारियां पनपती हैं। उन्होंने ग्रामीणों को खुले में शौच जाने के नुकसान और शौचालय के निर्माण के लिए सरकार की ओर से दी जा रही प्रोत्साहन राशि के बारे में भी बताया। इस दौरान कलक्टर ने शिक्षा व स्वास्थ्य जागरूकता के लिए चलाए जा रहे अलख व पुकार अभियान के बारे में भी जानकारी दी और इनका लाभ उठाने का आह्वान किया। उन्होंने पुकार के तहत गांव की गर्भवतियों और उनके बच्चों की सुरक्षा के लिए नियमित जांच व टीकाकरण करवाने का आह्वान किया और कहा कि हर बुधवार को गांव में महिलाएं जच्चा-बच्चा की बात करने के लिए ही एकत्र होती हैं। उन्होंने गांव में एएनएम और आंगनवाड़ी कार्यकत्र्ताओं द्वारा गर्भवतियों की सुरक्षा के लिए दी जाने वाली सीख को अपनाने की सलाह दी तथा कहा कि इससे मातृ व शिशु मृत्युदर में काफी हद तक कमी आ सकेगी। समारोह में पंचायत समिति के प्रधान राजेश कटारा ने ब्लॉक को 31 अक्टूबर तक खुले में शौचमुक्त करने के लिए आवस्त किया और कहा कि इसके लिए सभी लोग जुटकर प्रयास कर रहे हैं। इस मौके पर स्वच्छ भारत मिशन के जिला प्रेरक मनीष विश्नोई ने भी संंबोधित करते हुए जिले के स्वच्छता ही सेवा अभियान के बारे में जानकारी दी और बताया कि जिले में गढ़ी ब्लॉक ओडीएफ हो गया है वहीं अरथूना और घाटोल 95 प्रतिशत, गांगड़तलाई 80 प्रतिशत तथा तलवाड़ा व बागीदौरा 70 प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर चुका है। उन्होंने अन्य ब्लॉकों में भी प्रयास करने की आवश्यकता जताई और इसके लिए ग्रामीणों को एकजुट होने को कहा। समारोह में समस्त ग्रामीणों और जनप्रतिनिधियों ने 31 अक्टूबर तक ब्लॉक को खुले में शौचमुक्त करने का संकल्प लिया व इसके लिए प्रयास करने को आश्वस्त किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *