पुलिस द्वारा व्यापारी के साथ र्दुव्यवहार मामले मे जैतसर बंद रहा, पुलिस थाने का घेराव किया

श्रीगंगानगर, 10 नवम्बर (का.सं.)। जैतसर कस्बे में शुक्रवार रात को एक कार मेें सवार नशे में धुत्त दो व्यापारियों को पकड़कर थाने में लाये जाने और उनके साथ पुलिस द्वारा कथित रूप से दुव्यर्वहार किये जाने की घटना को लेकर कस्बे में बंद का आह्वान किया गया। इसका मिला-जुला असर दिखाई दिया। सूरतगढ़ के विधायक राजेन्द्र भादू बंद समर्थकों के साथ खड़े दिखाई दिये। बंद का व्यापार मण्डल, कपड़ा, किरयान, मनियारी आदि एसोसिएशनों की तरफ से समर्थन किया गया है। सुबह 10 बजे व्यापारी, दुकानदार व काफी संख्या में आम लोग व्यापार मण्डल भवन में एकत्रित हुए। बैठक करने के बाद व्यापार मण्डल अध्यक्ष वेदप्रकाश सेतिया की अगुवाई में जुलूस निकाला गया। यह जुलूस पुलिस थाना के सामने पहुंचकर घेराव में तब्दील हो गया। थानाप्रभारी विजय सिंह, सब इंस्पेक्टर प्रेमराज व एक हवलदार को हटाये जाने की मांग करते हुए काफी देर तक नारेबाजी की गई। इसके बाद जुलूस पुरानी धानमण्डी पहुंचा, जहां धरना शुरू कर दिया गया। धरनास्थल पर काफी संख्या में लोग मौजूद हैं। उधर, कस्बे में कुछ ही दुकानें बंद हैं। ‘यादातर दुकानें खुली हुई हैं। इस बीच सूरतगढ़ के डीएसपी लोकेन्द्र दादरवाल ने बताया कि इस मामले में पुलिस द्वारा किसी के साथ भी कोई दुव्यर्वहार नहीं किया गया है। जिन दो जनों को कथित रूप से नशे की हालत में थाने में लाया गया था, उन्हें लोगों के आग्रह पर बिना कोई कार्यवाही किये छोड़ दिया गया था। इसके बाद वे रात लगभग 2 बजे तक जैतसर थाना में बातचीत करने के लिए लोगों के आने का इंतजार करते रहे, लेकिन कोई नहीं आया। इस मामले को अनावश्यक रूप से कुछ लोग अपने स्वार्थ के कारण तूल देने में लगे हैं। बता दें कि कल रात 8 बजे बुगिया की आरे से एक कार में कस्बे के दो व्यापारी आ रहे थे, जिन्हें रोककर एसआई प्रेमराज ने चैक किया तो वे नशे में धुत्त थे। दोनों को थाने में लाकर पुलिस एमवी एक्ट के तहत कार्यवाही कर ही रही थी, इतने में काफी संख्या में लोग एकत्रित होकर आ गये। हो-हगा मचाते हुए व पुलिस कार्यवाही में बाधा डालते हुए दोनों जनों को जबरन थाने से छुड़वाकर ले गये। इसके बाद यह लोग मांग करने लगे कि एसआई व हवलदार को निलम्बित किया जाये। आज सुबह इस मामले में थानाप्रभारी विजयसिंह को भी हटाये जाने की मांग जोड़ दी गई।
मिला आश्वासन, फिर वार्ता
इस मसले को लेकर दोपहर बाद व्यापार मण्डल भवन में पुलिस-प्रशासन और व्यापारी प्रतिनिधियों की बैठक हुई। इसमें डीएसपी लोकेन्द्र दादरवाल, श्रीबिजयनगर के तहसीलदार अजीत गोदारा और व्यापारियों की तरफ से वेदप्रकाश सेतिया, सुरेश मोड़, राजा पुन्यानी और गंगा पुन्यानी आदि शामिल हुए। जानकारी के अनुसार इस वार्ता में व्यापारी थानाप्रभारी को हटाये जाने की मांग से पीछे हट गये, लेकिन उन्होंने सब इंस्पेक्टर, हवलदार व अन्य दोषी पुलिसकर्मियों को थाने से हटाये जाने की मांग रखी। वार्ता में वे अपनी इस मांग पर अड़े रहे। इसका कोई नतीजा नहीं निकला। अलबत्ता प्रशासन-पुलिस के कहने पर व्यापारी इस वार्ता के बाद बाजार खोलने को सहमत हो गये। अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि कल रविवार को अपराह्न 4 बजे श्रीगंगानगर से वरिष्ठ अधिकारी आयेंगे। तब बातचीत कर बाकी मांगों को भी सुलझा लिया जायेगा। व्यापारी इसके लिए सहमत हो गये। वार्ता के बाद बाजार खुल गये और धानमण्डी में भी कामकाज आरम्भ हो गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *