पोस्त तस्करों के सप्लाई प्वाइंट पर छापा – खेत में बने गोदाम से 13 क्विटल डोडा-पोस्त बरामद

श्रीगंगानगर, 16 मई (का.सं.)। श्रीगंगानगर-बीकानेर नेशनल हाइवे 62 पर राजियासर थाना क्षेत्र में पोस्त तस्करों के एक सप्लाई प्वाइंट पर पुलिस ने बुधवार सुबह छापा मारा। यह सप्लाई प्वाइंट हाइवे से कुछ ही दूरी पर उदयपुर गोदारान की रोही में एक खेत में ट्यूबवैल के पास बनाये हुए कोठे में तस्करों ने बना रखा था। इस गोदामनुमा कोठे से हाइवे पर चलने वाले ट्रकों तथा अन्य वाहनों में आने-जाने वाले लोगों को पोस्त बेचा जाता था। छापे के दौरान पुलिस को इस कोठे में से प्लास्टिक के 60 थैले मिले, जिनमें लगभग 13 क्विंटल पोस्त बरामद हुआ। इसके अलावा 63 प्लास्टिक के कट्टे खाली भी मिले। लिहाजा अनुमान लगाया जा रहा है कि इन कट्टों में भी लगभग 14 क्विंटल पोस्त इस गोदाम से आगे सप्लाई या बेचा जा चुका था। राजियासर थाना की कार्यवाहक प्रभारी एसआई शालू बिश्रोई ने एक मुखबिर की सूचना के आधार पर बुधवार सुबह दो स्वतंत्र गवाहों कैलाश पुत्र रतीराम जाट और हंसराज को साथ लेकर प्रात: 7.30 बजे उदयपुरा गोदारान की रोही में कालूराम पुत्र मूलाराम कुम्हार के खेत में बने कोठे पर छापा मारा। पुलिस के मुताबिक उस समय न तो खेत का मालिक वहां मौजूद था और न ही इस खेत को काश्त करने वाला। इस खेत में रगााक नामक व्यक्ति काश्त करता है।पुलिस टीम ने जब कोठे के दरवाजे को तोड़ा, अंदर पोस्त के कट्टे भरे हुए थे। इस कोठे में 23 काले रंग के और 37 सफेद रंग के प्लास्टिक के कट्टे मिले, जिनमें 19 से लेकर 21 किलो तक डोडा-पोस्त भरा हुआ था। इन सभी थैलों का मौके पर ही वजन किया गया। प्रत्येक थैले में से दो-दो सौ ग्राम डोडा-पोस्त पर सैम्पल व कंट्रोल सैम्पल के लिए लिया गया। पुलिस ने बताया कि इसके अलावा 63 खाली कट्टे भी मिले, जिनका वजन लगभग 12 किलो से अधिक पाया गया। मौके की कार्यवाही के बाद राजियासर थाना में अज्ञात व्यक्तियों पर एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया, लेकिन इस मामले में पुलिस को पहला शक खेत मालिक और उसे काश्त करने वाले पर ही है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि इतनी बड़ी मात्रा में डोडा-पोस्त की बरामदगी के इस मामले में संदेह के आधार पर दो-तीन जनों को पकड़ा गया है, जिनसे अभी पूछताछ चल रही है। अन्य सूत्रों ने बताया कि किसी सप्लाई प्वाइंट से पोस्त को हाइवे पर लाकर पंजाब-हरियाणा की तरफ जाने वाले ट्रकों तथा अन्य वाहन लेकर पोस्त खरीदने आने वालों को सप्लाई किया जाता था। इनमें ज्यादातर पंजाब के लोग होते थे। बता दें कि हाइवे पर अनेक ढाबों व होटलों के आसपास पोस्त तस्कर घूमते रहते हैं। जिनकी नजर पंजाब से आये हुए लोगों पर रहती थी। जैसे ही उन्हें पता चलता कि पोस्त खरीदने वाला कोई शख्स आया है, उससे मोलभाव करने के बाद कुछ ही देर में उसे पोस्त मुहैया करवा दिया जाता था। पिछले महीने श्रीगंगानगर शहर में जवाहरनगर और कोतवाली पुलिस ने सूरतगढ़ की ओर से आई बसों से उतरे पंजाब के दो-तीन जनों को सुखाडिय़ा सर्किल व शिव चौक पर भारी मात्रा में पोस्त सहित पकड़ा था। सूत्रों का कहना है कि यह पोस्त राजियासर इलाके से ही लाया गया था, लेकिन जवाहरनगर और कोतवाली पुलिस पंजाब के इन व्यक्तियों को पोस्त बेचने वालों तक नहीं पहुंच पाई थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *