कुदरत के आगे हार गईं प्रियंका चोपड़ा, डॉक्टरेट लेने जाना था

प्रियंका चोपड़ा भले ही इंटरनेशनल सेलेब्रिटी बन चुकी हैं, मगर उनके मन में आज भी अपनी जड़ों की तरफ़ भागता है। वो ऐसा कोई मौक़ा नहीं छोडऩा चाहतीं, जो उन्हें पुरानी यादों की सैर करवाता हो। प्रियंका को हाल ही में बरेली जाने का मौक़ा मिला, मगर कोहरे ने उनके इरादों पर मायूसी की पर्त चढ़ा दी। अपने इस दर्द को प्रियंका ने ट्विटर पर साझा किया है।उत्तर प्रदेश के बरेली शहर से प्रियंका का पुराना रिश्ता है। इस शहर में प्रियंका ने काफ़ी वक़्त गुज़ारा है और मिस वर्ल्ड बनने से पहले वो इसी शहर में अपने परिवार के साथ रहती थीं। हाल ही में बरेली इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी ने शहर की इस बेटी को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित करने का एलान किया। इस घोषणा से प्रियंका भी ख़ुश हो गईं। उन्हें इस बात की ख़ुशी भी थी कि डिग्री लेने जाने के बहाने पुराने शहर से मुलाक़ात कर सकेंगी। अपने परिवार, दोस्तों और यादों से रू-ब-रू हो पाएंगी।प्रियंका ने अपने बिज़ी रूटीन में से वक़्त निकालकर यात्रा की योजना बना ली। तयशुदा दिन पर वो एयरपोर्ट पहुंच गईं, मगर कोहरे की वजह से फ़्लाइट रद्द हो गई। प्रियंका ने विकल्पों तलाशने की बहुत कोशिश की, मगर कुदरत के आगे हार गईं। दर्द छलका तो ट्विटर पर बयां किया।प्रियंका ने लिखा ”मेरा दिल टूट गया है कि आज में बरेली में बरेली इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में शामिल नहीं हो सकूंगी। प्रियंका ने आगे लिखा, हम सुबह से एयरपोर्ट पर एटीसी (एयर ट्रैफि़क कंट्रोलर) की तरफ़ हरी झंडी मिलने का इंतज़ार कर रहे थे। हम अपनी टीम के साथ दूसरे सभी विकल्पों पर विचार कर रहे थे, मगर कोहरे ने आज की सभी योजनाओं को रद्द कर दिया। मैं बरेली जाने को लेकर काफ़ी उत्सुक थी, इसलिए नहीं कि डिग्री लेनी है, बल्कि परिवार, दोस्तों से मिलने का मौक़ा मिलेगा और मेरी जि़ंदगी का अहम हिस्सा रहे शहर से दोबारा कनेक्ट हो सकूंगी। प्रयंका ने जल्द मुलाक़ात का वादा करते हुए कहा, ”मैं यूनिवर्सिटी को मेरी मुश्किल समझने के लिए शुक्रिया कहना चाहूंगी और सभी ग्रेजुएट्स को भविष्य के लिए शुभकामना देना चाहूंगी। जल्द ही मैं आप सबसे मिलूंगी। प्रियंका ने बरेली छोडऩे के बाद लंबा सफऱ तय किया है। बॉलीवुड में अपना एक मुक़ाम बनाने के बाद उन्होंने इंटरनेशनल स्तर पर अपनी छाप छोड़ी है। हॉलीवुड फि़ल्मों के साथ वहां वो टीवी शोज़ में भी छाई हुई हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *