राजस्व प्रकरणों के निस्तारण में गति लाकर जनता को लाभ पहुंचाए-महाजन

जयपुर, 26 दिसम्बर (कासं.)। जिला कलक्टर सिद्धार्थ महाजन ने उपखण्ड अधिकारियों एवं तहसीलदारों को निर्देश दिए है कि राजस्व प्रकरणों के निस्तारण में गति लाते हुए आमजन को लाभान्वित करने के लिए सजगता से कार्य करे। महाजन मंगलवार को जिला कलक्ट्रेट सभागार में राजस्व अधिकारियों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। बैठक में जिला कलक्टर ने जिले में विभिन्न विभागों द्वारा संचालित व्यक्तिगत लाभ की योजनाओं में पात्र व्यक्तियों को लाभांवित करने के लिए आयोजित होने वाले पं. दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण शिविर-2018 की तैयारियों के सम्बंध में भी उपखण्ड अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके तहत प्रथम चरण में 28 दिसम्बर 2017 से 03 जनवरी 2018 तक ब्लॉक स्तरीय बैठक एवं प्रशिक्षण गतिविधियों का आयोजन किया जाना है, इसके बाद 03 जनवरी से 03 फरवरी 2018 तक ग्राम पंचायत स्तरीय दल द्वारा योजनावार प्रपत्रों के आधार पर सर्वे होगा। उपखण्ड अधिकारी इस अभियान की तैयारियों के लिए ब्लॉक स्तर के अधिकारियों की बैठक लेकर उनको समय पर आवश्यक कार्यवाही के लिए पाबंद करे ताकि अभियान में अधिक से अधिक पात्र व्यक्तियों को लाभांवित किया जा सके। जिला कलक्टर ने कहा कि भूमि अधिग्रहण के लम्बित प्रकरणों में सार्वजनिक निर्माण विभाग के अभियंता और अधिकारी सहयोग नहीं कर रहे है तो उनको पत्रावलियां लौटाते हुए इस लापरवाही के बारे में विभाग के उच्चाधिकारियों को भी सूचित करे। उन्होंने बैठक में राजकीय भवनों के लम्बित भूमि आवंटन, भूमि संपरिवर्तन प्रकरण, वाणिज्यिक, शैक्षणिक और संस्थानिक प्रयोजनार्थ आवंटन सहित भू आवंटन के प्रकरणों की प्रगति की समीक्षा की और इनका शीघ्रातिशीघ्र निस्तारण करने के निर्देश प्रदान किए। जिला कलक्टर ने राजस्व लेखा शाखा के बकाया प्रकरणों की समीक्षा करते हुए एलआर एक्ट, पीडीआर एक्ट, रोड़ा एक्ट आदि के प्रकरणों में कम प्रगति वाले उपखण्ड अधिकारियों एवं तहसीलदारों को राजस्व मंडल के दिशा-निर्देशों के अनुरूप समय पर कार्यवाही सम्पादित करने के निर्देश दिए। बैठक में सर्तकता शाखा, विकास शाखा तथा जिला कलेक्ट्रेट की अन्य शाखाओं के प्रकरणों की प्रगति की भी उपखण्ड एवं तहसीलवार समीक्षा की गई। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रथम) डा. मोहनलाल यादव, अतिरिक्त जिला कलक्टर (द्वितीय), अतिरिक्त जिला कलक्टर (उत्तर) मोहम्मद अबूबक्र के अलावा उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार और राजस्व सम्बंधी अन्य अधिकारी और कार्मिक मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *