जीवन और आजीविका बचाने के लिए राजस्थान सरकार ने किया अनूठा प्रयास

कोरोना की दूसरी लहर की भयावहता का इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि देश में पहली बार एक दिन में दो लाख 73 हजार नए संक्रमण के मामले आये हैं तो 24 घंटों में 1619 संक्रमितों की मौत दिल दहलाने वाली है। ब्राजील के बाद अमेरिका को पीछे छोड़ते हुए दूसरे नंबर पर हम आ गए हैं। कमोबेस देश के सभी राज्यों में स्थिति बेकाबू होती जा रही है। ऐसें में राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार द्वारा कोरोना महामारी के इस दौर से निपटने में जनभागीदारी तय करने का जो नायाब नुस्खा निकाला गया है उसका बिना किसी आलोचना-प्रत्यालोचना के स्वागत किया जाना चाहिए। इससे पहले कोरोना के पहले दौर में कोरोना से निपटने के लिए अपनाया गया भीलवाड़ा मॉडल भी देश में ही नहीं विदेशों तक में सराहा जाता रहा है। केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने जहां राज्यों को लॉकडाउन लगाने या ना लगाने का निर्णय स्वविवेक पर करने को कहा है वहीं राजस्थान की सरकार ने 19 अप्रैल से 3 मई तक जन अनुशासन पखवाड़ा मनाने का निर्णय किया है। यह इस मायने में महत्वपूर्ण हो जाता है कि अन्य प्रदेशों की तरह राजस्थान में भी हालात गंभीर होते जा रहे हैं। रविवार को ही प्रदेश में 10 हजार नए रोगी और 42 मौत की सूचनाएं आई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *