राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण का दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्पन्न

जयपुर, 12 मई (का.सं.)। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा रविवार को स्थानीय हरीशचन्द्र माथुर प्रशिक्षण संस्थान में अधिवक्ताओं का दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण,अजमेर, अलवर, भरतपुर,भीलवाड़ा, दौसा, जयपुर जिला, जयपुर महानगर, झुन्झुनूं , करौली, सीकर एवं टोंक के 103 पेनल अधिवक्ताओं ने हिस्सा लिया। प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ राजस्थान बार काउन्सिल, जोधपुर के महाधिवक्ता एम.एस. सिंघवी ने किया। प्रशिक्षण कार्यक्रम का उदे्श्य विधिक जागरूकता को बढ़ावा देने के साथ पैनल अधिवक्ताओं को विधिक सेवा कार्यक्रमों तथा केन्द्र व राज्य सरकार की योजनाओं से अवगत कराया जाना था, जिससे वे आम जनता को सामान्य कानून एवं विधिक योजनाओं की जानकारी प्रदान कर सकें। इस अवसर पर राजस्थान बार काउन्सिल, जोधपुर के महाधिवक्ता एम.एस. सिंघवी ने अपने सम्बोधन में कहा कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रम युवा अधिवक्ताओं के लिए बहुत लाभदायक है। उन्होंने अधिवक्ताओं का ऐसे बिन्दुओं की ओर भी ध्यान आकर्षित किया जिनकी पालना करने से वे अधिक प्रभावशाली विधिक सहायता प्रदान कर सकते हैं।
प्रशिक्षण कार्यक्रम में राजस्थान उच्च न्यायालय के न्यायाधीश गोवर्धन बाड़दार ने अपने उद्बोधन में कई कानूनी विषयों पर पैनल अधिवक्ताओं का ध्यान आकर्षित किया । इस अवसर पर राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव अशोक कुमार जैन ने कहा कि विधिक सहायता लेने वाला व्यक्ति हम पर तभी विश्वास करेगा जब हम उसको एक अच्छा वकील प्रदान करेंगे। राज्य में 650 अधिवक्ता ऐसे हैं जो नि:शुल्क विधिक सहायता के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में न्यायाधीश बनवारी लाल शर्मा, डी.सी. सोमानी, मदन गोपाल व्यास, राजस्थान उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अनील कुमार उपमन, राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की निदेशक मती अर्चना मिश्रा एवं विशेष सचिव निहाल चन्द गोयल सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए हुए अधिवक्ता एवं रालसा के अधिकारी उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *