माहवारी स्वच्छता प्रबन्धन पर 3 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला सम्पन्न

जयपुर, 8 फरवरी (का.सं.)। अतिरिक्त मुख्य सचिव, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग राजेश्वर सिहं ने स्वच्छता से जुडे सभी सन्दर्भ व्यक्तियों का आह्वान किया है कि वे माहवारी स्वच्छता प्रबन्धन के बारे में आमजन को जागरूक कर स्वस्थ समाज के निर्माण में अह्म भूमिका निभायें । सिहं शुक्रवार को चौपाल ग्रामीण प्रशिक्षण संस्थान में माहवारी स्वच्छता प्रबन्धन पर चल रही सन्दर्भ व्यक्तियों की 3 दिवसीय राज्य स्तरीय प्रशिक्षकों की प्रशिक्षण कार्यशाला के समापन सत्र में प्रतिभागियों को सम्बोधित कर रहे थे। माहवारी स्वच्छता प्रबन्धन को उन्होंने महिलाओं व किशोरी बालिकाओं के शारीरिक व मानसिक विकास के साथ-साथ सम्पूर्ण पारिवारिक व सामाजिक परिवेश को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक बताया । उन्होंने कहा कि किशोरावस्था में शारीरिक व मानसिक तौर पर अनेक बदलाव आते हैं व इन बदलावों के बारे में वैज्ञानिक जानकारी इस वर्ग के साथ-साथ परिवार के प्रत्येक सदस्य को होना आवश्यक है ताकि वे किशोरों, विशेषकर किशोरी बालिकाओं को व्यक्तिगत स्वच्छता प्रबन्धन व उससे उनके व्यक्तिगत व पारिवारिक जीवन में होने वाले फायदों के बारे में उन्हें जागरूक कर सकें । सिंह ने कहा कि अपने समाज में आज भी कुछ ?से विषय हैं जैसे यौन सम्बंध, माहवारी, प्रजनन इत्यादि जिनके बारे में खुलकर चर्चा नहीं होती है जिससे अनेक भ्रांतियां उत्पन्न होती हैं और अधूरी जानकारी के आधार पर युवा वर्ग भटक कर गलत कार्यों की ओर उन्मुख हो जाते हैं। यह कार्यक्रम इस तरह के विषयों पर वैज्ञानिक चर्चा की एक सार्थक पहल है। सिंह ने इस प्रशिक्षण कार्यशाला में संदर्भ व्यक्तियों व राज्य में जिला, ब्लॉक, ग्राम पंचायत व विद्यालय स्तर पर होने वाली आगामी माहवारी स्वच्छता प्रबन्धन कार्यशालाओं में प्रतिभागियों हेतु तैयार सामग्री को मनोरंजक, ज्ञानवर्धक व उपयोगी बताया व कहा कि अगर राज्य सन्दर्भ व्यक्ति इस सामग्री के माध्यम से ग्राम पंचायत व विद्यालय स्तर तक सजीव संवाद कायम कर संदेश देने में कामयाब रहे तो माहवारी स्वच्छता प्रबन्धन की दृष्टि से समाज में बडा सामाजिक परिवर्तन व सांस्कृतिक रूपान्तरण हो पायेगा । इस अवसर पर निदेशक, स्वच्छ भारत मिशन पी0सी0 किशन, महिला अधिकारिता विभाग की अतिरिक्त निदेशक रेणु खण्डेलवाल, उप निदेशक, स्वच्छ भारत मिशन पराग चौधरी, यूनिसेफ के वॉश विशेषज्ञ रूषभ हेमानी, विकास सम्प्रेषण विशेषज्ञ मंजरी पंत, वॉश कन्सलटेन्ट प्रियंका शर्मा, यूएन विमेन से कन्सलटेन्ट सु अभिलाषा, न्यू कॉन्सेप्ट, नई दिल्ली से विषय विशेषज्ञ डॉ0 अमर निधी, डॉ0 अशोक, कमल किशोर एवं दीप्ती आदि उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *