यहां सस्ते हो सकते हैं बड़े मकान, रेरा से पहले फायदे की बात

रायपुर। त्योहारी सीजन की तरह उपभोक्ताओं को अभी भी महंगे और बड़े मकान काफी सस्ते मिल सकते हैं। देशभर में रियल इस्टेट में मंदी का दौर चल रहा है, यही कारण है कि छत्तीसगढ़ के बिल्डर पुराने प्रोजेक्ट को किसी तरह पूरा करना चाहते हैं।साथ ही अभी रेरा कानून पूरी तरह लागू नहीं हुआ है, यह भी एक कारण है पुराने प्रोजेक्ट में जल्दबाजी का। दीपावली समाप्त होने के बाद अब शादी सीजन के लिए नई और आकर्षक मार्केटिंग रणनीति बनाने में बिल्डर जुटे हुए हैं। इसके तहत उपभोक्ताओं से वाट्सअप या मोबाइल संदेशों के माध्यम से सीधे संपर्क किया जा रहा है। बिल्डरों द्वारा कहा जा रहा है कि वे रियल इस्टेट में पूरी तरह से कस्टमर फ्रैंडली माहौल तैयार कर रहे हैं।रियल इस्टेट सेक्टर से जुड़े कारोबारियों का कहना है निश्चित रूप से उपभोक्ताओं को अब महंगे मकान और सस्ते मिलेंगे। यह कोशिश की जा रही है कि प्रोजेक्टों को कस्टमर फ्रैंडली बनाया जाए और मकान खरीदने के लिए उपभोक्ता तैयार हो जाएं। आरसीपी इन्फ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड के सीएमडी राकेश पांडे का कहना है कि अब कस्टमर फ्रैंडली प्रोजेक्ट पर ही फोकस किया जा रहा है। उपभोक्ताओं को फायदा ही पहुंचेगा।
त्योहार के पहले 30 फीसदी तक गिरे थे दाम
बताया जा रहा है कि त्योहार के पहले महंगे मकानों की कीमतों में 30 फीसदी तक की गिरावट आई थी। सड्डू क्षेत्र में जो बंगले इस साल की शुरूआत में 70 से 80 लाख तक बिक रहे थे,उन्हें 55 से 60 लाख में बेचा गया। इसके साथ ही टाटीबंध क्षेत्र,अवंति विहार क्षेत्र,शंकर नगर,गुढिय़ारी,मोवा क्षेत्र में उपभोक्ताओं को लुभावना डिस्काउंट के साथ ही उपहारों का फायदा मिला था।
देशभर में गिर चुकी है कीमतें-रियल इस्टेट के जानकारों का कहना है कि देशभर के विभिन्ना शहरों में इन दिनों प्रॉपर्टी की कीमतों में 35 से 40 फीसदी तक की गिरावट आ चुकी है। हालांकि एक निजी एजेंसी द्वारा कराए गए सर्वे में यह बात सामने आई है कि रायपुर के साथ ही बंगलुरु में प्रॉपर्टी की कीमतें नहीं गिरी है,बल्कि माल बेचने उपभोक्ताओं को दूसरे ढंग से लुभाया जा रहा है।
खरीदारी समय अच्छा है
भले ही राजधानी में प्रॉपर्टी की कीमतें घटी नहीं है। बिल्डर अपने-अपने ढंग से उपभोक्ताओं को फायदा पहुंचा रहे हैं। लेकिन प्रॉपर्टी की कीमतें स्थिर हैं तथा घर का सपना पूरा करने का यह समय अच्छा है।
– शैलेष वर्मा,अध्यक्ष,छत्तीसगढ़ क्रेडाई
महीने के अंत तक हो जाएगा रेरा समिति का गठन उपभोक्ताओं को प्रॉपर्टी के क्षेत्र में फायदा पहुंचाने इस महीने के अंत तक रेरा समिति का गठन होने के संकेत है। बताया जा रहा है कि इसके रजिस्ट्रार की नियुक्ति तो पहले ही हो चुकी है तथा अध्यक्ष के लिए आवेदन भी आ चुके हैं। 30 अक्टूबर तक इन आवेदनों में से अध्यक्ष का चुनाव हो जाएगा तथा उसके बाद समिति का गठन होगा।रेरा समिति का गठन होने के बाद उपभोक्ताओं को काफी फायदा होगा। बिल्डरों का कहना है कि रेरा समिति के निर्माण के बाद रियल इस्टेट में होने वाले अवैध काम पूरी तरह से बंद हो जाएंगे तथा केवल सही लोग ही इस क्षेत्र में रह पाएंगे।
यह होगा फायदा-
1. बिल्डर को अपना वायदा हर हाल में पूरा करना होगा। प्रोजेक्ट का निर्माण जिस समय में देना है,उतने समय में देना ही होगा।
2.प्रोजेक्ट में कोई भी फेरबदल करने की स्थिति में उपभोक्ताओं से अनुमति लेनी होगी।
3. प्रोजेक्ट में किसी भी प्रकार से गलत दावे नहीं किए जा सकेंगे।
नए प्रोजेक्टों के काम अभी रुके- रेरा कानून के चलते अभी नए प्रोजेक्टों के काम पूरी तरह से रुके हुए हैं। बिल्डर भी अपने पुराने प्रोजेक्ट को बेचने में ही लगे हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *