रेड क्रॉस ने अनेबल मैकाथॉन हेतू आवेदन मांगे

नई दिल्ली, 23 सितंबर(एजेन्सी)।इंटरनेशनल कमिटी ऑफ द रेडक्रॉस (आईसीआरसी) और ग्लोबल डिसबिलिटी इनोवेशन हब (जीडीआईहब)ने विकलांगों द्वारा सामना की जार ही चुनौतियों के लिए नए, अभिनव समाधानों के लिए अन्य लोगों और विकलांगों (पीडब्ल्यूडी) से एनेबल मैकाथॉन 2.0 के लिए एंट्रीज मंगाई हैं। पीडब्ल्यूडी, डिजाइनर्स, वैज्ञानिक एवं नवोन्मेष समुदाय,निर्माताओं और उद्यमियों से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। आवेदन भेजने की अंतिम तिथि 30 सितंबर है। इस साल इस कार्यक्रम में सुनने या देखने में अक्षम या लोकोमोटर विकलांगता से पीडि़त लोगों द्वारा 12 पहुंच और रोजगार संबंधी चुनौतियों को संबोधित करता है। विशेषज्ञों का एक पैनल एंट्रीज की समीक्षा करेगा और को-क्रिएशन कैंप में भाग लेने के लिए सबसे ज्यादा दिलचस्प व नवीन आईडिया के साथ15 टीम शॉर्टलिस्ट की जाएंगी और विजेताओं को नगद पुरस्कार दिया जायेगा।
इस परियोजना पर बोलते हुए आईसीआरसी में इनोवेशन एडवाइजर तरुण सर्वाल ने कहा कि एनेबल मैकाथॉन एक अनूठा सामाजिक अभियान है। विकलांगजन जिन असल चुनौतियों को संबोधित करना चाहेंगे उनके लिए समाधान खोजने के लिए विकलांगों के साथ विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों की एक टीम को साथ लाता है। यह प्लेटफॉर्म हमें अपने आईडिया को अवधारणाओं से निष्पादन की ओर और कम समय में परीक्षण की ओर ले जाने की अनुमति देता है। मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि अनेबल मैकाथॉन 2.0 भी एक शानदार सफलता होगी और प्रभावी,समावेशी समाधान प्रदान करेगा जो विश्व स्तर पर चुनौतीपूर्ण संदर्भों में काफी आवश्यक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *