टैली पंजीकृत व्यावसायों को जीएसटी रिटर्न आसानी से दाखिल करने में बनायेगा सक्षम

 

नई दिल्ली। सितंबर में कम से कम 7 जीएसटी रिटर्न भरने होंगे। भारत में पहली बार व्यावसायों को जीएसटीएन पोर्टल पर इनवॉइस रिटर्न द्वारा इनवॉइस भरना होगा। जीएसटीपीएस और व्यावसाय दोनों को ही इसमें होने वाली जटिलता को प्रबंधित करने की जरूरत पड़ेगी। जीएसटीपीएस अपने ग्राहकों को रिटर्न दाखिल करने में मदद करेंगे, वहीं दूसरी ओर व्यावसायों को सटीक डिजिटलीकृत इनवॉइसेस से उन्हें सपोर्ट करना होगा और यदि कोई संदेह है तो उसे दूर करना होगा। ऐसे में अनुपालन एक साझा जिम्मेदारी होगी। देश की प्रमुख बिजनेस सॉफ्टवेयर प्रदाता टैली सॉल्यूशंस व्यावसायों एवं जीएसटीपी को पहला रिटर्न आसानी से भरने में मदद के लिए चौतरफा योजना के साथ काम कर रही है। इसने जीएसटी कॉम्पलाएंट भारत के लिए मार्ग प्रशस्त किया है। जीएसटी के लागू होने के बाद से, कंपनी ने व्यावसायों को जीएसटी के लिए तैयार करने का काम किया है। इनमें से अधिकांश को इनवॉइस के फॉर्मेट, उनके बुक्स में उनका लेखा कैसे किया जाये, एचएसएन/एसएसी कोड आदि से संबंधित कई संदेह उनके जेहन में थे। टैली व्यावसायों को जीएसटी के लिए तैयार करने हेतु उन्हें शिक्षित करने पर फोकस कर रहा है। अब जबकि रिटर्न आ रहे हैं, हमारा फोकस लोगों को रिटर्न भरने के लिए तैयार करना है। कंपनी ने पहले ही 7000 से अधिक कार्यक्रम एवं प्रशिक्षण संचालित किये हैं। इसमें दैनिक वेबिनार्स भी शामिल हैं जिसमें रोजाना सैकड़ों लोगों ने हिस्सा लिया। जीएसटी के आने से पहले कंपनी एक सरल एवं इस्तेमाल में आसान जीएसटी बिलिंग सॉफ्टवेयर लेकर आई थी जिसे 3 मिलियन से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है। इसके बाद कंपनी ने जीएसटी रेडी सुइट में अपनी नवीनतम रिलीज टैली.ईआरपी 9 रिलीज 6 को लॉन्च किया है। इस उत्पाद की कीमत सिंगल यूजर एडिशन के लिए 18,000 रूपये$जीएसटी और मल्टी-यूजर एडिशन के लिए 54,000 रूपये$जीएसटी बनी हुई है। हालांकि, टैली के अधिकतर मौजूदा यूजर्स मुफ्त में इस रिलीज को अपग्रेड करने में सक्षम होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *