आधार नामांकन विहीन ऋ णी किसानों का होगा नामांकन

जयपुर, 12 जुलाई (का.सं.)। रजिस्ट्रार सहकारिता राजन विशाल ने कहा है कि जिन पात्र ऋणी किसानों का ऋण माफ किया गया है और उनका आधार नामांकन नहीं हुआ हैं ऐसे सभी किसानों को चिन्हित कर पंचायत समिति मुख्यालय पर ले जाकर आधार कार्ड बनवाया जाएगा।जिससे वास्तविक किसान को ऋण माफी का लाभ मिल सके। विशाल गुरूवार को अपेक्स बैंक के सभागार में केन्द्रीय सहकारी बैंकों के प्रबंध निदेशकों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अब तक 21.95 लाख किसानों का डेटा वेलिडेशन कर अपलोड किया जा चुका है। उन्होंने निर्देश दिये कि शेष डेटा को 20 जुलाई तक आवश्यक रूप से अपलोड कर लिया जाएगा।रजिस्ट्रार ने कहा कि सभी बैंक पात्र किसानों के ऋण माफी प्रमाण पत्र शीघ्र तैयार करे एवं जनप्रतिनिधियों से सामंजस्य बनाते हुए आयोजित ऋण माफी शिविरों में किसानों को वितरित करे। उन्होंने निर्देश दिये कि 31 जुलाई तक शिविर आयोजित कर लिये जाए। विशाल ने कहा कि किसानों को नया फसली ऋण शिविरों में ही वितरित कराए। उन्होंने निर्देश दिये कि आंकड़ों में समरूपता हो इसके लिए डीओआईटी;क्व्प्ज्द्धसॉफ्टवेयर पर समय रहते अपलोड कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि जिन किसानों का ऋण माफ हो चुका है तथा बकाया शेष है ?से किसानों से वसूली के लिए अभियान चलाया जाए ताकि किसानों को डिफाल्टर होने से बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि जिन बैंकों में नया ऋण वितरण करने की प्रक्रिया धीमी चल रही है ?से सभी बैंक शीघ्रता से किसानों को चालू खरीफ सीजन में ऋण का वितरण करे।विशाल ने कहा कि जिन बैंकों में स्टाफ की कमी है ऐसे बैंकों को विभाग एवं अपेक्स बैंक द्वारा स्टाफ उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सुनियोजित ढंग़ से ऋ ण माफी शिविरों को तय समय में संपन्न करे। उन्होंने निर्देश दिये कि जिन ऋणी किसानों की मृत्यु हो चुकी है या पलायन कर चुके है ?से किसानों की सूची बनाकर अपलोड करें। उन्होंने कहा कि बैंकों को राज्य सरकार के पेटे ऋण वितरण के लिए राशि जारी की गई है उस राशि का समय पर ऋण वितरण हो यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने जिला अनुसार नियुक्त नोडल ऑफिसर को निर्देश दिये की लगातार मोनेटरिंग कर ऋण माफी प्रमाण पत्र एवं नए ऋण वितरण की रिपोर्ट लेकर निर्देशों की पालना सुनिश्चित करावें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *