जयपुर जिले में 11 हजार से अधिक प्रकरणों का निस्तारण

जयपुर, 8 मई (का.सं.)। जयपुर जिले में राजस्व लोक अदालत-न्याय आपके द्वार अभियान के चौथे चरण में सोमवार तक उपखण्ड अधिकारी, सहायक कलक्टर एवं तहसीलदारों के स्तर पर आयोजित शिविरों में 11 हजार 183 प्रकरणों का निस्तारण किया गया है। जिला कलक्टर सिद्धार्थ महाजन ने बताया कि उपखण्ड अधिकारियों एवं सहायक कलक्टर स्तर पर आयोजित शिविरों में 856 एवं तहसीलदारों के स्तर पर शिविरों में 10 हजार 327 प्रकरणों का निस्तारण हुआ है। जिला कलक्टर ने बताया कि उपखण्ड अधिकारियों एवं सहायक कलक्टर के स्तर पर सोमवार को आयोजित राजस्व लोक अदालत शिविरों में 225 तथा तहसीलदारों के स्तर पर कैम्पों में 2 हजार 726 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। एसडीएम व एसीएम के स्तर पर शिविरों में एक्ट 53 में आपसी सहमति से विभाजन के 20 तथा एक्ट 88 में खातेदारी अधिकार के 50 प्रकरण निस्तारित करते हुए मौके पर कैम्पों में लोगों को लाभान्वित किया गया। एक्ट 136 के तहत इन्द्राज दुरूस्ती के 36, एक्ट 188 में स्थाई निषेधाज्ञा के 13, नामान्तकरण अपील के 4, इजराय के 7, रास्ते संबंधी एक, धारा 83, 183 व 212 आर.टी. अधिनियम के 87 तथा पत्थरगढ़ी के 07 प्रकरणों सहित 225 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। इनमें 176 पुराने व 49 नये प्रकरण शामिल है। जिला कलक्टर ने बताया कि तहसीलदारों के स्तर पर राजस्व लोक अदालतों में सोमवार को आयोजित हुए शिविरों में 2 हजार 726 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। इसमें एल.आर.एक्ट 135 के तहत नामान्तकरण के 532, खाता दुरूस्ती के 195, खाता विभाजन के 125 व सीमाज्ञान के 27 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। इसके अलावा 626 राजस्व रिकार्ड की नकल प्रदान की गई। गैर खातेदारी से खातेदारी अधिकार के एक तथा 1155 अन्य प्रकरणों का निस्तारण किया गया। साथ ही सीमाज्ञान के लिए 40 आवेदन भी प्राप्त किये गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *