रशियन हेलीकॉप्टर्स केए-226टी बनेगा मेक इन इंडिया

बेंगलुरु,15 मार्च(एजेन्सी)। रशियन हेलीकॉप्टर्स होल्डिंग कंपनी (स्टेट कॉर्पोरेशन रोस्टेक का एक हिस्सा) और कई भारतीय कंपनियों ने एयरो इंडिया 2019 में सहमति पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये। कंपनियों ने केए-226टी के लिए कई उपकरणों और पुर्जों के उत्पादन के बारे में छान-बीन करने पर सहमति व्यक्त की। उपयोग में लाये जाने वाले पुर्जों जैसे फ्यूजलेज, ब्लेड्स, रेडियास्टेशन और लैंडिंग गियर के लिए, एमओयू पर निम्नलिखित कंपनियों- एलकॉम, वाल्डेल एडवांस्ड टेक्नोलॉजीज, डायनामैटिक टेक्नोलॉजीज, इंटीग्रेटेड हेलीकॉप्टर सर्विसेज और भारत फोर्ज, ने हस्ताक्षर किये। एमओयू पर हस्तारक्षर करने के बाद, रशियन हेलीकॉप्टर होल्डिंग कंपनी के महानिदेशक आंद्रे बोगिंसकी ने कहा कि हमने केए-226टी परियोजना का एक नया चरण शुरू किया है, जिसमें हमें भारतीय कंपनियों के बीच निर्माताओं की पहचान करना है। मुझे भरोसा है कि आज जो समझौते हुए हैं, उनके नतीजे बाद के चरण में, जब केए -226 टी का उत्पादन ग्राहक क्षेत्र के लिए होने लगेगा, दीर्घकालिक आपसी लाभकारी सहयोग के रूप में दिखेंगे। विक्टर क्लाादोव, निदेशक, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और क्षेत्रीय नीति, स्टेट कॉरपोरेशन, रोस्टोक ने कहा कि मेक इन इंडिया कार्यक्रम के दायरे में भारत में केए-226टी हेलीकॉप्टर के उत्पादन के स्थानीयकरण का कार्यक्रम एक महत्वपूर्ण परियोजना है। अनुबंध के अनुसार रूस में असेम्ब्ल किये गये 60 केए-226टीकी डिलीवरी की जायेगी और 140 इकाइयों का उत्पादन साझेदार देश में किया जायेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *