झूठी घोषणाओं से भ्रमित करने के बजाय जनता की समस्याएं हल करे सरकार : पायलट

जयपुर, 15 अक्टूबर (एजेन्सी)। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने प्रदेश सरकार से नींदड़ आवासीय योजना के प्रभावितों सहित आंदोलन कर रहे प्रदेशभर के सभी अन्य वर्गों से संवाद कर उनकी समस्या का निदान करने की मांग की है।पायलट ने कहा कि गत कई दिनों से नींदड़ आवासीय योजना के प्रभावित जयपुर विकास प्राधिकरण द्वारा भूमि अवाप्त किए जाने को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, परन्तु दुर्भाग्य है कि सरकार व प्रशासन के स्तर पर उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि दीपावली के त्यौहार का आगाज हो चुका है, परन्तु उनकी समस्या का निदान नहीं होने से परेशान ग्रामीण महिला व पुरुष जमीन में आज भी समाधि लेकर बैठे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के प्रतिनिधियों को लोगों के बीच पहुंचकर उनकी वाजिब मांगों को सुनना चाहिए और उनका निदान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री उपचुनावों के मद्देनजर लुभावनी घोषणाएं कर रही हैं, लेकिन पीडि़तों की सुनवाई पूरे प्रदेश में कहीं भी नहीं हो रही। गत दो दिन से मुख्यमंत्री माण्डलगढ़ में विभिन्न समाजों के लोगों से मुलाकात कर रही हैं, परन्तु बेरोजगारों की सुध लेने की उनके पास फुर्सत नहीं है। उन्होंने कहा कि बेरोजगार विद्यार्थी मित्र, कम्प्यूटर शिक्षक सहित कई श्रेणी के संविदाकर्मी जो विभिन्न जातियों व धर्मों से ताल्लुक रखते है, ने मुख्यमंत्री से मिलने का प्रयास किया तो प्रशासन ने उनको खदेड़ दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य, पेयजल व बिजली की व्यवस्थाएं पूरी तरह से चरमराई हुई हैं, 108 एम्बुलेन्स सेवा के कर्मचारी त्यौहार के समय वेतन नहीं मिलने से हड़ताल पर हैं और पुलिसकर्मी वेतन कटौती को लेकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं, परन्तु मुख्यमंत्री उनको सुनने व उनकी समस्या का निदान करने के स्थान पर चुनावी गोटियां बैठा रही हैं। पायलट ने कहा कि भाजपा सरकार अपने कार्यकाल के अंतिम पड़ाव पर है, परन्तु आज भी भाजपा नेता जनता को राहत देने के स्थान पर अपने निजी व राजनीतिक हित साधने में व्यस्त हैं और जनता को उसके हाल पर छोड़ रखा है। उन्होंने कहा कि सरकार को वाजिब मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे सभी वर्गों से संवाद स्थापित कर दीपावली से पहले उनकी समस्याओं का निवारण करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *