बेटी सारा की फिल्म के लिए बोले सैफ अली खान

 

ऐक्टर सैफ अली खान की आने वाली फिल्म कालाकांडी का ट्रेलर हाल ही में लॉन्च हुआ। इस मौके पर हमने सैफ से की खास मुलाकातऐक्टर सैफ अली खान अपनी आने वाली फिल्म कालाकांडी में एक बिल्कुल अलग अवतार में नजर आ रहे हैं। हाल ही में इस डार्क कॉमिडी फिल्म का ट्रेलर लॉन्च हुआ, जिसमें बॉलिवुड के जेंटलमैन सैफ गालियां देते भी दिखाई दे रहे हैं। इस मौके पर जब हमने सैफ से जानना चाहा कि वे गालियां देते हुए कितने सहज या असहज थे तो उनका कहना था कि उन्हें इसमें कोई दिक्कत नहीं हुई, क्योंकि उन्हें अपने निर्देशक अक्षत वर्मा पर पूरा भरोसा था। बकौल सैफ, अगर मुझे अपने निर्देशक पर भरोसा है तो मैं वही करता हूं, जो वह चाहता है, क्योंकि वही यह दुनिया रच रहा होता है, इसलिए मेरे हिसाब से फिल्म के लिए एक जिम्मेदार निर्देशक बहुत जरूरी है। मैं जब ऐक्टिंग करता हूं, तब दर्शकों के बारे में नहीं सोचता। तब मैं अपने डायरेक्टर के लिए काम करता हूं। मेरा पहला दर्शक मेरा निर्देशक होता है। अगर मुझे उस पर भरोसा है तो मैं कम्फर्टेबल हूं। सैफ ने यहां यह भी बताया कि उनकी आनेवाली वेब सीरीज सेक्रेड गेम्स में भी थोड़ी-बहुत गालियां हैं।

तो इंटरनेट पर रिलीज होती कालाकांडी

अपने बोल्ड विषय और गालियों की वजह से कालाकांडी सेंसर के पचड़े में भी काफी दिनों तक फंसी रही। बोर्ड ने इस फिल्म को 73 कट्स लगाने की नसीहत दी थी, जिस वजह से इसकी रिलीज़ भी टालनी पड़ी। यही नहीं, आलम यह था कि एक वक्त पर फिल्म के निर्माता इसे थिऐटर की बजाय इंटरनेट पोर्टल पर रिलीज करने का मन बना चुके थे। सैफ ने बताया, जब सेंसर बोर्ड ने फिल्म में 73 कट्स लगाए थे, तब हमने सोचा था कि इसे किसी को बेच देते हैं। वेब प्लैटफॉर्म पर रिलीज़ करते हैं, लेकिन फिर वह ठीक नहीं लगा, क्योंकि हमने यह फिल्म इंटरनेट के लिए नहीं बनाई थी। हमने इसे बड़े पर्दे के लिए बनाया था। इसलिए हमने ट्रिब्यूनल में अपील की और वहां दो कट्स के साथ हमें यूए सर्टिफिकेट मिल गया।

खराब पब्लिसिटी से पिटी शेफ

सैफ को अपनी पिछली फिल्म शेफ से भी काफी उम्मीदें थीं, लेकिन यह फिल्म नहीं चली। सैफ इसके लिए फिल्म की कमजोर पब्लिसिटी को दोष देते हैं। इसके अलावा उन्हें लगता है कि फिल्म में थोड़ा ड्रामा और होना चाहिए था। वह कहते हैं, ‘मुझे फिल्म के निर्देशक राजा कृष्णा मेनन की कोशिश अच्छी लगी। थोड़ी यूरोपियन स्टाइल की फिल्म थी। मुझे तारीफें मिली। मेरे हिसाब से उसमें ड्रामा थोड़ा और हो सकता था, जिससे राजा बचते हैं। फिर भी वह अच्छी फिल्म थी। मुझे काम करने में मजा आया। फिल्म थोड़ा और अच्छा करती तो बेहतर रहता। मेरे हिसाब से उसकी पब्लिसिटी भी सही तरह से नहीं हुई। आजकल पब्लिसिटी में पैसा खर्च करना पड़ता है। लोग मार्केटिंग में पैसा खर्च नहीं करना चाहते, बस ऐक्टर्स को भेज देते हैं दुनिया भर के टीवी शोज में। उन्हें लगता है कि इससे लोग फिल्म देखने जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं होता। लोग जानना चाहते हैं कि फिल्म में क्या है। इंटरव्यू ठीक हैं, लेकिन आपको ट्रेलर दिखाना पड़ता है, होर्डिंग्स दिखनी चाहिए। लोगों को ट्रेलर अच्छा लगता है तो वे जाते हैं। आप सौ इवेंट्स पर जाओ, रेलवे स्टेशन पर जाकर नाचो, लेकिन उससे बात नहीं बनती।
सारा की फिल्म के लिए एक्साइटेड हूं : अगले साल जहां सैफ की फिल्म कालाकांडी रिलीज़ हो रही है, वहीं उनकी बेटी सारा अली खान फिल्म केदारनाथ से डेब्यू करने वाली हैं। सैफ कहते हैं, मैं खुश हूं। मैं सारा के लिए एक्साइटेड हूं। जब उनकी फिल्म की रिलीज़ करीब आएगी, वो ऐसा ही होगा जैसे मेरी फिल्म रिलीज़ हो रही है। मुझे पूरा भरोसा है कि वह बेहतरीन होंगी। वहीं सारा के फर्स्ट लुक के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। पहले मैं ठीक तरह से उसे देखूंगा, फिर कोई कॉमेंट करूंगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *