मैं सौ जन्म में छुटकी जैसी पटाखा नहीं बन सकती सान्या

आमिर खान की दंगल में कमाल दिखा चुकीं सान्या मल्होत्रा खुद को लकी मानती हैं कि करियर की शुरुआत में ही उन्हें आमिर और विशाल जैसे दिग्गजों के साथ काम करने का मौका मिला है। वह कहती हैं, मैं तो खुद को खुशनसीब मानती हूं कि दंगल करने के बाद करियर के इतने कम समय में ही मैं दो और फिल्में कर रही हूं। इस पर सोने पर सुहागा यह हुआ कि मुझे विशाल भारद्वाज सर के साथ काम करने का मौका मिला। विशाल हमेशा से मेरे पसंदीदा डायरेक्टर रहे हैं। मैं हमेशा से उनके साथ काम करना चाहती थी। उनकी फिल्में और गानों ने हमेशा से मुझे प्रेरित किया है। उनके साथ काम करना मेरे लिए सपने जैसा है, जिसपर आज भी यकीन नहीं हो रहा है। मुझे आज भी याद है, हैदर देखने के बाद मैं थिअटर में 15 मिनट सुन्न होकर बैठी रही और सोचती रही कि कब मैं इनके साथ काम कर पाऊंगी।
दिल्ली से ऐक्टिंग का सपना लेकर आना और करियर की शुरुआत में ही दो बड़े बैनर मिल जाना। कितना खुशनसीब मानती हैं खुद को?
मैं खुद को भगवान का बच्चा मानती हूं। मैं जिंदगीभर उनकी शुक्रगुजार रहूंगी। उन्होंने मुझे वह दिया जो मैं हमेशा से करना चाहती थी। मुझे यह जिंदगी जीने में बड़ा मजा आ रहा है। सुबह जब भी उठती हूं तो सोचती कि मैं कितनी खुशनसीब हूं। ऐसा मौका बहुत ही कम लोगों को मिलता है। बहुत से लोग मुंबई आते हैं लेकिन उन्हें ऐसा मौका मिल नहीं पाता है। रही बात आगे जाने की तो मैं नहीं जानती कि कब तक करूंगी। मैं जब तक यहां हूं बस अच्छा काम करना चाहती हूं। मुझे कुछ बन जाने की कोई जल्दी नहीं है। बहुत फेमस होने का सपना मैं नहीं देखती। मैं कैमरे के सामने ज्यादा सुकून महसूस करती हूं।
फिल्म से कैसे जुडऩा हुआ?
मैं बधाई हो की शूटिंग कर रही थी। इसी बीच मैनेजर का कॉल आया और उन्होंने कहा कि विशाल सर दिल्ली में हैं और मुझसे मिलना चाहते हैं। मैं सेट पर थी और वह सेट पर आए। मेरी उनसे बातचीत हुई। बातचीत के दौरान मैंने सेंस कर लिया कि वह मुझसे ज्यादा इंप्रेस नहीं हैं। उन्होंने जरूर सोचा होगा कि मैं तो बड़ी शांत सी हूं, उनकी फिल्म की छुटकी के किरदार के लिए शायद फिट नहीं बैठ पाऊंगी। मुझे 3 सीन दिए गए थे और ऑफ डे पर मुझे ऑडिशन देने को कहा गया। मेरे जन्मदिन के दिन मुझे ऑफ मिला था। मुझे याद है उस दिन शाम को विशाल सर का कॉल आया और उन्होंने मुझसे कहा कि अगर आपको डायलॉग बोलने में दिक्कत हो रही है, तो मैं आपके साथ रिहर्सल कर लेता हूं। मुझे तो यकीन नहीं हो रहा था कि मैंने विशाल जी के साथ फिल्म की रिहर्सल की। अगले दिन मैंने ऑडिशन दिया और उन्हें पसंद आया। सच कहूं, मेरे दिमाग में कभी ऐसा नहीं था कि मैं इस फिल्म में काम करूंगी। लेकिन एक तसल्ली तो जरूर थी कि चलो विशाल सर मुझे जान गए हैं तो कभी न कभी किसी न किसी फिल्म में मौका तो जरूर दे देंगे।
दंगल में भी आप लड़ाई करती थीं और यहां भी बहन से लड़ती रहती हैं?
दंगल और पटाखा की लड़ाई में जमीन आसमान का फर्क है। कहानी में दो बहनों का कॉन्सेप्ट जरूर एक सा है लेकिन बर्ताव में जमीन आसमान का फर्क है। बबीता गीता से कभी ऐसी बात नहीं करेगी जिस तरह छुटकी अपनी बहन से बात करती है। ‘दंगल’ में हमारे लिए सबसे जरूरी यह था कि हम एक प्रफेशनल रेसलर दिखें। वहीं इस फिल्म के साथ समस्या है कि मुझे वैसी लड़की का किरदार निभाना था जो कभी मैं सौ जन्म में नहीं बन सकती। मैं बहुत ही शांत और कम बोलने वाली लड़की हूं जो छुटकी से काफी अलग है। अपने कम्फर्ट जोन से निकलकर इस तरह का किरदार निभा पाना मेरे लिए बहुत बड़ा चैलेंज था। इसके लिए मैंने बहुत वर्कशॉप किए जो मेरे लिए काफी मददगार साबित हुए। मैं हमेशा से इस तरह का किरदार करना चाहती थी जिसमें मैं चिल्ला सकूं।
ट्रेलर में आप राधिका से मारपीट करती नजर आ रही हैं। ऑफ स्क्रीन आप दोनों की ट्यूनिंग कैसी थी?
मैंने यही सोचा था कि जबतक शूटिंग होगी हम तब तक साथ होंगे। एक बेहद ही प्रफेशनल को-स्टार की तरह काम करेंगे। जब वर्कशॉप शुरू हुई तो राधिका और मैं एक दूसरे को काफी हेल्प किया करते थे। हमारी बॉन्डिंग बहुत अच्छी हो गई है। यह बॉन्डिंग सीन के शूटिंग में दिखती थी। शूटिंग के वक्त हम ऐक्टिंग नहीं कर रहे होते थे बल्कि हम बातचीत कर रहे होते थे। जो स्क्रीन पर काफी नेचुरल लगता था। राधिका बेहद ही पॉजिटिव इंसान हैं। हर कोई ऐसी दोस्त चाहेगा और मैं खुशनसीब हूं कि मुझे राधिका जैसी को-ऐक्टर के रूप में एक अच्छी दोस्त मिली है।
आमिर के साथ अब कैसी बॉन्डिंग है। बातचीत होती है आपकी?
मैंने अपने करियर की शुरुआत आमिर सर, नितेश सर और किरण मैम के साथ की थी। इन सबसे मेरा बेहद ही इमोशनल कनेक्शन है। मुंबई में अगर मेरी कोई फैमिली है तो यही है। आमिर सर बहुत बिजी होते हैं, तो उन्हें बात-बात पर डिस्टर्ब करना अच्छा नहीं लगता है। हमारा एक वॉट्सऐप ग्रुप है, जहां हम एक दूसरे से कनेक्ट रहते हैं। मैं अपने प्रॉजेक्ट्स और उसकी इंफोर्मेशन उनसे शेयर करती हूं। हाल ही में मैंने एक घर और कार खरीदी है। मैंने यह खुशी उनसे शेयर की। वे सभी मेरे लिए खुश हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *