सेबी ने विदेशी निदेशक पर 10 साल का प्रतिबंध लगाया

नई दिल्ली। भारतीय प्रतिभूति एवं विनियम बोर्ड (सेबी) ने पूर्ववर्ती होम ट्रेड लि. में निदेशक रहे विदेशी नागरिक एलन जेम्स मैकमिलन के पूंजी बाजार में कारोबार करने पर 10 साल का प्रतिबंध लगा दिया है। करीब दो दशक पहले 500 करोड़ रुपये के घोटाले को लेकर यह कंपनी चर्चा में आई थी। इस कंपनी ने कई ई-कॉमर्स उद्यमों के जरिये खुद को नई पीढ़ी के वित्तीय पोर्टल के रूप में दर्शाने का प्रयास किया था और जोरदार तरीके से विज्ञापन अभियान चलाया था। कंपनी के विज्ञापन अभियान में क्रिकेट और बॉलीवुड की कई हस्तियां शामिल रही थीं।सेबी ने मैकमिलन को ढूंढने का काफी प्रयास किया है। मैकमिलन का अंतिम ज्ञात पता अमेरिका है। 2004 से सेबी ने मैकमिलन को कई कारण बताओ नोटिस भी भेजे हैं। इसी के बाद अब नियामक ने यह आदेश जारी किया है। होम ट्रेड की प्रवर्तक यूरो ऑफशोर इन्वेस्टमेंट लि. (अब यूरो डिस्कवरी टेक्नोलॉजी वेंचर लि.) 1999 में शेयरों की सार्वजनिक पेशकश लेकर आई थी। सेबी ने बाद में जांच में पाया था कि वास्तव में ज्यादातर शेयर केतन सेठ से जुड़े लोगों और शीर्ष अधिकारियों ने खरीदे हैं। उस अवधि में मैकमिलन होम ट्रेड के निदेशकों में थे। कंपनी के शेयर 15 नवंबर, 1999 को 250 से 270 रुपये के बीच कारोबार कर रहे थे। सितंबर, 2000 में कंपनी के शेयरों का मूल्य कृत्रिम तरीके से बढ़कर 850 रुपये पर पहुंचा दिया गया। इसके बाद शेयर कीमतों में गिरावट आनी शुरू हुई। मार्च, 2002 तक ये 60 से 70 रुपये पर आ गए। इस मामले में सेबी जहां कई अन्य लोगों के खिलाफ आदेश पारित कर चुका है लेकिन मैकमिलन को जारी नोटिस वापस हो गए। मैकमिलन को आखिरी बार व्यक्तिगत रूप से सुनवाई का अवसर 27 सितंबर, 2016 को दिया गया। इससे पहले दिसंबर, 2015 को सेबी ने होम ट्रेड और उसके प्रवर्तकों, प्रबंधन के महत्वपूर्ण अधिकारियों तथा सहायक इकाइयों पर प्रतिभूति बाजार में कारोबार का 10 साल का प्रतिबंध लगाया था। अब सेबी ने मंगलवार को मैकमिलन के खिलाफ आदेश पारित किया है।एसबीआई के इस खाते में नहीं है मिनिमम बैलेंस की लिमिट: कई बैंकों ने सेविंग खातों पर मिनिमम बैलेंस की लिमिट तय कर दी है। मगर, लेकिन देश के सबसे बड़ी सरकारी बैंक एसबीआई ने एक नया सेविंग खाता खोलने का विकल्प लोगों को दिया है।इसके तहत अकाउंट होल्डर्स को तमाम तरह की वैसी सुविधाएं मिलेंगी, जैसी अन्य सेविंग अकाउंट पर मिलती हैं। हालांकि, इस पर कोई भी मिनिमम बैलेंस की सीमा नहीं तय की गई है।एसबीआई ने बताया कि बेसिक सेविंग बैंक डिपॉजिट अकाउंट पर मिनिमम बैलेंस की शर्त लागू नहीं है। हालांकि, इसकी एक ही शर्त है कि ग्राहक का कोई दूसरा बचत खाता नहीं होना चाहिए।यदि कोई सेविंग या बेसिक सेविंग अकाउंट है, तो ग्राहक को उसे 4 हफ्ते के अंदर बंद कराना होगा। रूपे डेबिट कार्ड और नेट बैंकिंग की सुविधा भी इस खाते के साथ मिलती है। इस खाते पर भी सालाना उतना ही ब्याज दिया जाता है जितना स्टेट बैंक के दूसरे बचत खातों पर मिलता है। इस खाते की सबसे बड़ी खासियत है कि इसके लिए किसी तरह का मिनिमम या मैक्सिमम बैलेंस रखने की जरूरत नहीं है। इस खाते को सिंगल या ज्वाइंट खोला जा सकता है और स्टेट बैंक की देश में मौजूद सभी शाखाओं में इसे खोलने की सुविधा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *