तो क्या शाम 7.30 बजे तक खुलेंगे शेयर बाजार

नई दिल्ली। सेबी शेयर बाजार में ट्रेडिंग का समय बढ़ाने का फैसला ले सकता है जिससे सबकी नींद उड़ी हुई है। ट्रेडर्स और ब्रोकर्स सबसे ज्यादा परेशान हैं। वहीं आम आदमी को भी फिलहाल इस बारे में कुछ खास जानकारी नहीं है। वैसे पिछला पूरा सप्ताह शेयर मार्केट के लिए बेकार ही साबित हुआ है। अमेरिका और उत्तर कोरिया विवाद के बीच शेयर मार्केट की चाल भी धीमी रही। लेकिन ट्रेडर्स से लेकर ब्रोकर्स की परेशानी की वजह बाजार की गिरावट नहीं बल्कि कुछ और है। आखिर समय बढऩे से यह इतने चिंतित क्यों हैं?
क्या है सेबी की योजना: सेबी मार्केट में ट्रेडिंग समय को शाम 5 बजे तक, 5.30 बजे तक या फिर 7.30 बजे तक करने पर फैसला ले सकता है। सेबी की एडवाइजरी कमेटी इस प्रपोजल पर गंभीरता से विचार कर रही है। अभी मार्केट 9 बजे के करीब खुलता है और 3.30 बजे बंद होता है। ट्रेडिंग के लिए समय 9.15 से लेकर के 3.30 तक का रखा गया है। इस हिसाब से फिलहाल भारत में करीब 6.30 घंटे की ट्रेडिंग होती है। गौरतलब है कि 2009 में सेबी ने एक्सचेंजों को सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे खोले जाने की मंजूरी दी थी। जिसके बाद ट्रेडिंग का ओपनिंग टाइम तो सुबह 9 बजे कर दिया गया लेकिंग क्लोजिंग टाइम 3.30 से आगे नहीं बढ़ाया गया।किसको फायदा किसको नुकसान: माना जा रहा है कि सेबी की समय बढ़ाने की योजना बड़े ट्रेडर्स और ब्रोकरेज हाउस के लिए तो फायदेमंद रहेगी। कई बड़े ब्रोकरेज हाउस समय बढ़ाने के पक्ष में हैं। इसके उलट छोटे ब्रोकरेज हाउस को इससे लागत बढऩे का डर है। उनका यह भी कहना है कि शाम 7.30 बजे तक टाइम बढ़ाने से उनको दो शिफ्टों में काम करना होगा और इसके लिए काफी लोग भी हायर करने होंगे। साथ ही आम आदमी को शेयर खरीददारी और बिकवाली के लिए अलग व्यक्तियों से डील करना परेशानी भरा हो जाएगा। हालांकि माना यह भी जा रहा है कि 5 बजे के बाद के समय पर आरबीआई को कुछ दिक्कतें हो सकती हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *