प्रदेश के 102 सेंटर्स पर ढाई हजार से ज्यादा कोरोना फ्रंट वारियर्स पर हुआ मॉक ड्रिल

वैक्सीनेशन का दूसरा ड्राई रन सफल

जयपुर (कासं.)। चिकित्सा सचिव सिद्धार्थ महाजन ने जयपुर के वैक्सीन सेंटर्स पर जाकर ड्राई रन गतिविधियों की निरीक्षण किया। वे जयपुर में कांवटिया अस्पताल पहुंचे। जहां अस्पताल अधीक्षक डॉ. लीनेश्वर हर्षवर्धन से जानकारी ली।प्रदेश में शुक्रवार को कोरोना वैक्सीनेशन का द्वितीय ड्राई रन (मॉक ड्रिल) सफल रहा। राजस्थान में सभी 33 जिलों के कुल 102 वैक्सीन सेंटर्स पर आयोजित ड्राई रन में 2 हजार 550 स्वास्थ्य कार्मिकों (हैल्थ वारियर्स) को कोविड-19 की डमी वैक्सीन लगाने का मॉक ड्रिल हुआ। कोरोना वैक्सीनेशन शुरू करने से पहले राजस्थान में आज दूसरा चरण था। इससे पहले प्रदेश में 2 जनवरी को सात जिलों के 18 सेंटर्स पर 424 कोरोना वारियर्स के लिए मॉक ड्रिल आयोजित किया गया था।राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि ड्राई रन के लिए प्रत्येक जिले में वैक्सीन सेंटर की तीन श्रेणियां बनाकर टीकाकरण का मॉक ड्रिल किया गया है। प्रथम श्रेणी में मेडिकल कॉलेज व जिला चिकित्सालय, द्वितीय श्रेणी में सीएचसी,पीएचसी व अरबन डिस्पेंसरी तथा तृतीय श्रेणी में निजी चिकित्सा संस्थानों पर कुल 102 वैक्सीन सेंटर बनाये गये थे। इन प्रत्येक वैक्सीन सेंटर पर कुल 25-25 वैक्सीनेशन का लक्ष्य निर्धारित किया गया था।सीएमएचओ (जयपुर प्रथम) नरोत्तम शर्मा ने कहा है कि जयपुर में ड्राई रन के लिये तीन अस्पताल चुने गए थे। इनमें शास्त्री नगर स्थित कांवटिया हॉस्पिटल, सीएचसी जामडोली और सीकर रोड पर सीकेएस हॉस्पिटल शामिल था। लेकिन अब तीन सेंटर और  दिए गए हैं। इनमें जयपुरिया अस्पताल दुर्गापुरा, पीएचसी वाटिका और यूपीएचसी जगतपुरा शामिल है। ऐसे में अब जयपुर में छह जगहों पर डमी वैक्सीनेशन हो रहा है। डॉ. नरोत्तम शर्मा ने बताया कि दूसरे चरण के ड्राई रन को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उनका कहना है कि 2 जनवरी को पहला चरण सफल रहा था।चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि सभी कोरोना वैक्सीन सेंटर पर इस बार भी ड्राई रन के लिए 25-25 हेल्थ वर्कर को बुलाया गया है। इस रिहर्सल में वो सभी प्रक्रिया अपनाई जाएगी। जो आगे टीकाकरण के समय होगी। इस दौरान कोल्ड चेन मैनेजमेंट, वैक्सीन की सप्लाई, स्टोरेज और लॉजिस्टिक्स के अलावा पूरी मशीनरी की तैयारियों को परखा गया है। चिकित्सा सचिव सिद्धार्थ महाजन ने जयपुर के वैक्सीन सेंटर्स पर जाकर ड्राई रन गतिविधियों की निरीक्षण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *