फाइनेंनिशयल ऑडिट एण्ड प्रोक्योरमेंट विषयक दो दिवसीय कार्यशाला का समापन

जयपुर, 21 जून (का.सं.)। सार्वजनिक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता एवं अतिरिक्त सचिव सी.एल.वर्मा ने आरआरएसएमपी परियोजना से जुड़े अभियंताओं को परियोजना के वित्तीय प्रबन्धन एवं प्रोक्योरमेंट में पूरी सावधानी एवं पारदर्शिता रखते हुए संसाधनों के अनुकूलतम उपयोग का आह्वान किया है। वर्मा गुरूवार को सानिवि मुख्यालय निर्माण भवन में इस विषय पर हुई दो दिवसीय कार्यशाला के समापन पर मुख्य अतिथि के रूप में अभियंताओं को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य में परियोजना का प्रथम फेज शानदार रहा है जिसकी विभिन्न राष्ट्रीय, अन्तरराष्ट्रीय मंचों पर भी प्रशंसा हुई है। यह परम्परा आगे भी जारी रहनी चाहिए। कार्यशाला का आयोजन ग्लोबल प्रोक्योरमेंट कन्सलटेंट लिमिटेड मुम्बई द्वारा विश्वबैंक वित्त पोषित आरआरएसएमपी परियोजना के फाइनेंसिशयल एवं प्रोक्योरमेंट कन्सलटेंट राजवंशी एवं एसोसिएट्स के संयुक्त तत्वावधान में 20 एवं 21 जून को किया गया। इस कार्यशाला का विषय फाइनेंनिशयल एण्ड प्रोक्योरमेंट ऑडिट एवं मैनेजमेंट टे्रनिंग वर्कशॉप फोर राजस्थान रोड़ सेक्टर मॉर्डनाइजेशन प्रोजेक्ट (आरआरएसएमपी) था। विभाग के वित्तीय सलाहकार सुरेश वर्मा ने बताया कि कार्यशाला में परियोजना के वित्तीय ऑडिट एवं प्रोक्योरमेंट तथा परियोजना के विभिन्न वित्तीय पक्षों पर सारगर्भित जानकारी का आदान-प्रदान हुआ और इससे इस परियोजना के लक्ष्यों को प्राप्त करने में सहायता मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *